मोदी के राज में डिजिटल इंडिया छू रहा नयी ऊँचाइयों को, रुपे कार्ड से ट्रांजेक्शन करने में लोगों को हो रही आसानी

Rupay_Card

PM मोदी अपने पहले कार्यकाल से देश को डिजिटल बनाने की कवायद कर रहे है और इस क्षेत्र में विकास के लिए कई परियोजनाओं की शुरुवात कर चुके है | मोदी का मानना है की ये दौर डिजिटल वर्ल्ड का है और विकाश की रेस में आगे निकलने के लिए भारत को भी पूरी तरह से डिजिटल होना चाहिए | उन्होंने समाज के हर वर्ग को चाहे वो किसान हो, चाहे गरीब महिलाएं, चाहे विद्यार्थी हर किसी को डिजिटल इंडिया से जोड़ने की कोशिश की है ताकि सरकारी योजनाओं का लाभ इन लोगों आसानी से पहुँचाया जा सके |

आपको पता होगा की साल 2014 में प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत गरीब परिवारों का खास कर की महिलाओं और किसानों का ग्रामीण बैंकों में खाता खुलवाया गया था जिनमे सरकारी परियोजनाओं के अंतर्गत सीधा पैसा जमा होता है और इसमें किसी भी प्रकार से बिचौलियों को सम्मिलित नहीं किया जाता है |

new highs touching digital India

चलिए आपको डिजिटल इंडिया के कुछ और फायदों के बारे में बताते है | प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत खाताधारकों को रुपे कार्ड उपलब्ध कराया गया था | और आंकड़ों के मुताबिक वित्त वर्ष 2019 में रुपे कार्ड से ट्रांसएक्शन में भी काफी बढ़त दर्ज की गयी है और ट्रांसएक्शन की संख्या लगभग 1 अरब के पार पहुँच गयी है | और साथ ही अध्ययन में ये भी सामने आया है की वित्तीय वर्ष 2018 के मुकाबले वर्ष 2019 में रुपे कार्ड से ट्रांसएक्शन में करीब 135 फिसद की बढ़ोतरी दर्ज की गयी है |

इसके साथ ही वित्तीय वर्ष 2019 में रुपे कार्ड से लेनदेन प्रक्रिया में भी 70 प्रतिशत का रिकॉर्ड तोड़ उछाल दर्ज किया गया है | ये सारे आंकडे इस बात को साफ़ दर्शा रहे है की किस प्रकार देश की जनता डिजिटल दौर के तरफ अपना कदम बढ़ा रही है | इतना ही नहीं लोगो का डिजिटल इंडिया के प्रति उनकी रूचि ये भी साबित कर रही है की इस प्रकिया से उनका काम आसानी से हो रहा है |

बता दे की अब तक में करीब 1100 बैंकों ने मिलकर पुरे 60 करोड़ रुपे कार्ड जारी किया है और अभी इस क्रम में और भी जारी किया जाना है | बात सिर्फ इतनी है की डिजिटल इंडिया के दौर में लोग नए तरीकों से लेनदेन को सराहने के साथ उन्हें अपना भी रहे है और विकास की रेस में नए उड़न भी भर रहे है |