मलेशिया को मोदी सरकार का तगड़ा झटका – कश्मीर पर पाकिस्तान का समर्थन करने की सजा

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद इस मुद्दे पर पाकिस्तान का समर्थन करने की सजा मलेशिया को मिली है| मोदी सरकार ने मलेशिया से पालम आयल का आयात बंद करने की घोषणा की है| आयात करने वाले पाम आयल रिफाईनरीज को मौखिक आदेश में सरकार के फैसले से सोमवार को अवगत कराया गया था।

मोदी सरकार के इस कदम से मलेशिया को होगी मुश्किल

मलेशिया से पाम आयल का आयात बंद होने से मलेशिया की मुश्किल बढ़ेगी| भारत हर साल करीब 9 लाख टन पॉम ऑयल आयात करता है। इसमें से 2019 में भारत ने सिर्फ मलेशिया से ही पिछले साल करीब 5 लाख टन पॉम ऑयल आयात किया था।

उल्लेखनीय है कि मलेशिया के सकल घरेलु उत्पाद का 2.8 प्रतिशत सिर्फ पॉम ऑयल एक्सपोर्ट से ही प्राप्त होता है जो मलेशिया के कुल निर्यात का 4.5 प्रतिशत है। इतनी बड़ी मात्रा में आयात बंद होने से मलेशिया को करारा झटका लगेगा|

अनुच्छेद 370, धारा 35 ए, और नागरिकता क़ानून प् मलेशिया के उलटे सुर थे

मोदी सरकार के इस कदम का कारण भारत के लिए महत्वपूर्ण मुद्दों पर मलेशिया का अलग राग अलापना था | मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 और धारा 35 ए हटाने का विरोध किया था। इतना ही नहीं हाल ही में भारतीय संसद द्वारा बनाये कए नागरिकता कानून में संशोधन का भी मोहम्मद ने विरोध किया था।

ये सीधा-सीधा भारत के आंतरिक मुद्दों में दखल का मामला था| जिसके बाद नरेंद्र मोदी सरकार ने पहले ही इशारा दे दिया था कि मलेशिया को सबक जरूर सिखाया जाएगा। विदेश मंत्रालय ने मलेशियाई राजदूत को बुलाकर ये साफ कर दिया था कि भारत इसे आंतरिक मामलों में दखल मानता है।

बता दें कि महातिर सरकार के विरोधियों ने भी अपने प्रधानमंत्री के भारतविरोधी बयान की निंदा करते हुए इसे राष्ट्रहित के खिलाफ बताया था।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •