पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति हुई बदतर, मंहगाई की दर आसमान को छू रही, जनता का गुजारा आधे रोटी पर हो रहा

Inflation_rate_in_Pak

पाकिस्तान की आम जनता की मुश्किलें दिन प्रतिदिन कम होने के बजाय बढती ही जा रही है | इस वक्त अगर पाकिस्तान की जनता किसी चीज़ से सबसे ज्यादा परेशान है तो वो है पाकिस्तान में बढती महंगाई | स्थिति इतनी बदत्तर हो चुकी है की पाकिस्तान कि जनता को आधे रोटी से ही काम चलाना पड़ रहा है | और पाकिस्तान की सरकार के इस दुःख को कम करने के बजाय उसे बढ़ने की कवायद में लगे हुई  इसी क्रम में इमरान ने तेल एवं गैस विकास प्राधिकरण (ओगरा) की पेट्रोलियम उत्पादों पर दस प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की सिफारिश को मंजूरी दे दी गयी | सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान में पेट्रोल डीजल की कीमत भारत से दोगुना है |

अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल की कीमत कम हुई तो पाकिस्तान में तेल की चढ़ी कीमत

Petrol Price Hiked by Govt.

पाकिस्तान को पूरी दुनिया से विपरीत चलने की आदत हो गयी है |तभी तो एक तरफ जहाँ अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमत घट रही है वही दूसरी तरफ पाकिस्तान में तेल की कीमतें आसमान छू रही है | वर्ल्ड बैंक का कहना है की 2019-20 में कच्चे तेल की कीमतें 67 डॉलर प्रति बैरल पहुंच सकती हैं वहीँ पाकिस्तान की सरकार पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में लगातार बढ़त कर रही है | कई बार पाकिस्तान की सरकार अपने इन फैसलों के लिए विपक्ष के कटाक्ष का शिकार भी हुई है | उत्पादों के बढ़ते दामों के बोझ तले पाकिस्तान की जनता दबती जा रही है पर पाकिस्तान की सरकार पर जैसे पट्टी बंधी हो और उन्हें जनता की परेशानियाँ दिखाई ही नहीं दे रही है |

2013 के बाद एक बार फिर बढ़ी मुद्रास्फीति की दर

एक तरफ जहाँ जनता आस लगा रही है की अब तो सरकार मंहगाई कम करेगी वहीँ सरकार के अनुमानतः आने वाले दिनों में मंहगाई दर सातवें आसमान पर पहुँचने वाली है | सरकार का कहना है की आने वाले दिनों में वर्तमान वित्तीिय वर्ष (2019-20) में 11 से 13 फीसद तक की मुद्रास्फिति होने का अनुमान है | बता दे की मौजूदा वित्ती वर्ष में पाकिस्तान की मुद्रास्फिति की दर दस फीसद (वर्तमान में 10.34 फीसद) को पार कर गई है |

हर उत्पाद की बढ़ी है कीमतें

पाकिस्तान में सिर्फ तेल की कीमतों में उछाल देखने को नहीं मिला है बल्कि सब्जियों से लेकर फल और अन्य खाने की चीजों के दाम काफी ऊंचे हो चुके हैं | सूत्रों के अनुसार खाने की चीजों में करीब दस फीसद की बढ़त दर्ज की गयी है वहीँ शिक्षा के खर्च में करीब सात फीसद, कपड़ों और जूतों की कीमतों में सात-आठ फीसद, घर, पानी, बिजली, गैस और तेल में 12-13 फीसद की बढ़ोतरी आई है | इसके अलावा घर के सामानों में भी 10-15 फिसद की बढ़त दर्ज की गयी है |

ये है पेट्रोल और डीजल की कीमत

सरकार के तेल की कीमत को बढ़ने के फैसले के बाद अब पाकिस्तान में पेट्रोल 117.83 रुपये प्रति लीटर है और डीजल 135.72 रुपये प्रति लीटर हो गई है | इसके साथ ही केरोसिन 103.84 रुपये प्रति लीटर और हल्का डीजल 94.27 रुपये प्रति लीटर हो गया है |

खैर ये सारे आंकड़ें देख कर बस इतना ही मालूम पड़ता है की पाकिस्तान की सरकार अपने जनता को भूखा मारने की तैयारी कर रही है | सरकार को जल्द से जल्द मंहगाई की परेशानी का निजात करना होगा नहीं तो आने वाले दिन पाकिस्तान की जनता की मुश्किलों को और भी बदत्तर बना देने वाला है |