पाकिस्तानी वायुसेना ने अपने संग्रहालय में लगाया विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान का स्टेच्यू

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Pakistani Air Force imposed Statue of Wing Commander Abhinandan

बालाकोट हमले में भले ही पाकिस्तानन को मुंह की खानी पड़ी हो, और उसके बाद पाकिस्ताबन को अपना एफ16 विमान खोना पड़ा हो, लेकिन इसके बावजूद पाकिस्तान अभिनंदन की हिरासत को भुनाने का कोई मौका छोड़ना नहीं चाहता है। पाकिस्तानी वायुसेना ने कराची स्थित अपने संग्रहालय में एक पुतला लगाया है, जो भारतीय वायुसेना के पायलट विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की तरह नजर आता है। विंग कमांडर ने पाकिस्तान के एफ-16 विमान को मार गिराया था। हालांकि उनका विमान पाकिस्तान में गिर गया था और वह लगभग तीन दिनों तक हिरासत में भी रहे थे। संग्रहालय के जिस गलियारे में वर्धमान का पुतला लगाया गया है उसका नाम है ‘ऑपरेशन स्विफ्ट रिटोर्ट’। मीडिया में आयी खबरों के अनुसार, एयर चीफ मार्शल मुजाहिद अनवर खान ने इस सप्ताह पाकिस्तानी वायुसेना के नये सेक्शन का उद्घाटन किया है।

Statue of Wing Commander Abhinandan Vardhaman

एक्सप्रेस ट्रिब्यून की खबर के अनुसार, संग्रहालय के इसी भाग में एक पुतला लगा है जो विंग कमांडर की तरह दिखता है। इंसान की लंबाई के बराबर इस पुतले की वर्धमान की तरह ही मूंछे हैं। उस पुतले के पास चाय का कप, वर्धमान के विमान मिग-21 का ढांचा और टेल रखा हुआ है।

बता दें 26 फरवरी को बालाकोट में आतंकवादियों के ठिकानों को निशाना बनाने के एक दिन बाद पाकिस्तान ने हवाई हमलों की कोशिश की थी। एक दिन बाद, 27 फरवरी को, भारतीय हवाई क्षेत्र का उल्लंघन करने वाले पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों को खदेड़ने के दौरान हवा में हुई लड़ाई में अभिनंदन का मिग-21 बाइसन विमान दुर्घटनाग्रस्त हो कर गिर गया और अभिनंदन को पाकिस्तानी सेना ने पकड़ लिया था। इससे पहले उन्होंने पाकिस्तान के एफ-16 विमान को मार गिराया था। अभिनंदन लगभग तीन दिन तक पाकिस्तान की कैद में रहे। पाकिस्तान ने विंग कमांडर को एक मार्च रात को रिहा किया था।

बता दें कि वर्द्धमान को पाकिस्तानी एफ-16 लड़ाकू विमान मार गिराने के लिए वीर चक्र से सम्मानित किया गया है। ड्यूटी पर लौटने के बाद विंग कमांडर अभिनंदन ने वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ के साथ लड़ाकू विमान मिग-21 में उड़ान भरी थी। फिलहाल, वर्द्धमान राजस्थान में भारतीय वायुसेना के एक अड्डे पर सेवा दे रहे हैं।’ 

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •