चीन के कर्ज के जाल में फंसा पाकिस्तान, मांगा गिलगित-बाल्टिस्तान

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पाकिस्तान की हालत अब ये हो गई है, कि दुनियां में भीख मागने पर उसे कोई भीख भी नही दे रहा है। आलम ये है, कि सऊदी अरब से फटकार खाने के बाद भीख के लिए चीन की चौखट पर गए पाकिस्‍तान को बड़ा झटका लगा है। क्योकि चीन ने भी पाकिस्‍तान को लोन देने से मना कर दिया है।

पाकिस्‍तान को चीन ने दिया झटका

पाकिस्तान की हालत आज आर्थिक तौर पर बहुत ज्यादा खराब हो गई है। आलम ये है की महंगाई के चलते पाक में हर सामान की कीमत आज तिगुनी हो गई है औरपाकिस्तान दाने दाने को मोहताज हो गया है। आतंकवाद को मदद करने के चलते विश्व के तमाम देशों ने पाक की फंडिंग बंद कर दी है। तो अब उसके दोस्त भी उससे मुंह मोड़ रहे है। पाक की सबसे ज्यादा मदद करने वाला देश सऊदी भी आज उसको आंखे दिखा रहा है और बिना पैसे के तेल देने से मना कर रहा है। जिसके बाद पाकिस्‍तान मदद के लिए चीन की तरफ टकटकी लगाए है, लेकिन ड्रैगन ने उसे अपना असली रंग दिखा दिया है। यह चीन की पुरानी चाल है कि वह दुनिया के देशों को पहले सस्‍ते कर्ज के जाल में फंसाता है और फिर उसकी जमीन पर कब्‍जा करता है। ऐसा ही कुछ उसे पाकिस्‍तान के साथ भी किया है। पाकिस्‍तान ने हाल ही में सऊदी का कर्ज उतारने के लिए चीन से एक बिलियन डॉलर का कर्ज लिया था, लेकिन अब सऊदी ने अपने बाकी बचे 2 बिलियन डॉलर भी मांग लिए हैं। इस उधारी को भी पाकिस्तान चीन के जरिए उतारना चाहता था लेकिन चीन ने पाक को कर्ज देने से मना कर दिया है तो कर्ज देने के लिए कुछ शर्त रख दी है।

मांगा गिलगित-बाल्टिस्तान

सऊदी की बची रकम को लौटाने के लिए पाकिस्‍तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी चीन जा पहुंचे, लेकिन ऐन वक्‍त पर ड्रैगन ने ऐसी चाल चली की पाकिस्‍तान के होश उड़ गए। बताया जा रहा है कि चीन ने पाकिस्‍तान को कर्ज देने से मना कर दिया। चीन ने कहा कि वह लगातार पाकिस्‍तान को इस तरह से कर्ज नहीं दे सकता, क्‍योंकि उससे पैसे वापस आने की कोई उम्‍मीद नहीं दिखती है।  चीन ने शर्त रखी कि वह पाकिस्‍तान को एक ही शर्त पर कर्ज दे सकता है, अगर गिलगित-बाल्टिस्तान का हिस्सा उसको दे दे। गौरतलब है कि चीन अपनी सीपेक योजना के तरह करीब 60 अरब डॉलर का निवेश करके पाकिस्तान से चीन तक सड़क और रेलवे लिंक बना रहा है। इसके जरिए पाकिस्तान के ग्वादर पोर्ट से चीन के शिनजियांग प्रांत को जोड़ा जाएगा। ऐसे में वो इस इलाके को पाक से लेकर अपना दबदबा और बढ़ाना चाहता है।

कुल मिलाकर आज की स्थिति में पाक को देखो तो उसके लिए एक तरफ कुआं तो दूसरी तरफ खाई है। लेकिन पाक को हम इस बीच यही संदेश देना चाहेगे कि वो आतंक का रास्ता छोड़ दो जिससे आने वाले दिनो में उसके हालात कुछ अच्छे हो सके


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •