मोदी की वापसी की संभावना से विपक्ष से ज्यादा पाकिस्तान तनाव में

Modi Leader Of NDA Government

भारत में चल रहे 2019 के लोक सभा के चुनाव ख़त्म हो चुके है और आने वाला दिन यानि की कल, 23 मई को इसके नतीजे भी सामने आ जायेंगे| पर बात यहाँ न तो चुनाव की है ना ही चुनाव के नतीजों की| यहाँ पर हम बात करेंगे पाकिस्तान में चल रहे तनाव की| दरअसल पाकिस्तान इस बात से डरा हुआ है कहीं भारत में इस बार फिर बीजेपी कि सरकार न बन जाये और उससे भी ज्यादा कही एक बार फिर नरेद्र मोदी भारत के प्रधानमंत्री न बन जाये|

देश में लोक सभा के चुनाव के ख़त्म होने के साथ ही 19 मई 2019 को चुनाव के एग्जिट पोल के नतीजे सामने आ गए जिसमे भारत की जनता ने बीजेपी को बढ़त देकर ये साफ ज़ाहिर कर दिया है कि उनके अगले प्रधानमंत्री के रूप में वो एक बार फिर नरेन्द्र मोदी को ही देखना चाहते है| पर दिलचस्प बात तो ये है की इस एग्जिट पोल के नतीजों से विपक्ष दलों से ज्यादा तो पाकिस्तान नाराज़ है| पाकिस्तान की परेशानी गूगल ट्रेंड पर साफ देखने को मिली| जी हाँ 19 मई के दिन नरेन्द्र मोदी को भारत से ज्यादा पाकिस्तान में सर्च किया गया|

pakistan-youth-showing_Google_Search_Result

एग्जिट पोल के नतीजे आते ही नरेन्द्र मोदी, पाकिस्तान के हर न्यूज़ चैनल पर चर्चा का सबसे पहला विषय बन गए| पाकिस्तानी चैनलों पर पूर्व राजदूतों, पाक सेना के पूर्व अधिकारियों और कथित जानकारों द्वारा चर्चाओं का बाजार गर्म रहा| हर किसी का एक ही सवाल था और सबके मन में एक ही डर “अब पाकिस्तान का क्या होगा?”

गूगल ट्रेंड के नतीजो के मुताबिक नरेन्द्र मोदी को 100%, पाकिस्तान के बलूचिस्तान में सर्च किया गया| बताते चलें की बलूचिस्तान पाकिस्तान का वो हिस्सा है जहाँ पर पाकिस्तानी सेना ने जबरन कब्ज़ा कर रखा है| यहीं नहीं, यहाँ से कई बार पाकिस्तानी सरकार और सेना के हिंसा के खिलाफ प्रदर्शन की खबरें आती रहती है| पर अब यहाँ की जनता जहाँ खुश है मोदी सरकार कि वापसी वहीँ पाकिस्तान के रातों की नींद उडी हुई इस बात से| उसके दिन तो जैसे खौफ में बीत रहे है|

अगर देखा जाये तो पाकिस्तान का मोदी सरकार की वापसी से डरना लाजमी है| क्योंकि अपने कार्यकाल के दौरान मोदी सरकार ने भारत की सेना के साथ मिलकर जो कदम उठाया है, और आतंकवाद को उसके नापाक हरकतों का मुहतोड़ जवाब दिया है तो भाई इस बात से आतंकवाद को अपने गोद में बिठानेवालों का परेशान होना वाजिब है|