संकट मे पाकिस्तान – पूरी दुनिया से लगा रहा मदद की गुहार

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विश्व पटल पर अपने आप को मजाक का पात्र बनाना पकिस्तान की आदत सी हो गयी है | इस बात का सबसे अच्छा उदाहरण देखने को तब मिला जब भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को कोरोना समस्या के निवारण हेतु सार्क मीटिंग में विचार करने पर विडियो कॉनफ्रेंसिंग का न्योता दिया था | पहले तो पाकिस्तान ने इस विषय को गंभीरता से नहीं लिया और प्रधानमंत्री कि जगह स्वास्थ्य मंत्री डॉ. जफर मिर्जा को मीटिंग के लिये भेजा |

पाकिस्तानी स्वास्थ्य मंत्री जब मीटिंग मे आये तो मुद्दे को सुलझाने की जगह कश्मीर का राग अलापने लगे | अब पाकिस्तान में दो दिनों में कोरोना संक्रमितों की संख्या 34 से बढ़कर 236 हो गई है जबकि एक की मौत भी हो चुकी है। इसके बाद प्रधानमंत्री इमरान खान ने ट्विटर पर उनका वीडियो इंटरव्यू शेयर किया है। इसमें वह कोरोना से लड़ने के लिए दुनिया से मदद मांगते दिखे। मगर, इमरान का यह वीडियो ट्विटर पर #Bhikhari नाम से ट्रेंड करने लगा। वहीं, इमरान खान को यूजर्स सार्क की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में की गई घटिया हरकत याद दिला रहे हैं।

शहर बंद किए गये तो भूख से मर जाएंगे

इमरान ने कहा है कि पश्चिमी देशों की तरह पाकिस्तान बड़े स्तर पर शहरों को बंद करने का जोखिम नहीं उठा सकता है। उनका कहना है कि यहां हालात अमेरिका या यूरोप जैसे नहीं हैं। यहां 25% आबादी गरीबी में रहती है। अगर शहर बंद किए जाते हैं तो लोगों को कोरोना वायरस से तो बचा लिया जाएगा, लेकिन वे भूख से मर जाएंगे।

पाक के लिए मुश्किल हैं हालात

माना जा रहा है कि पाकिस्तान को कोरोना वायरस का खतरा बाकी देशों से ज्यादा है। इसकी सीमाओं से अंदर-बाहर करना आसान है, अस्पतालों की हालत खराब है, हाथ मिलाना और गले मिलना परंपरा का हिस्सा है और बड़े शहरों में भी लाखों की जनसंख्या अशिक्षित है। इस सबके अलावा देश की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है और इसे कई बार इंटरनैशनल मॉनिटरी फंड से लोन लेने की जरूरत पड़ चुकी है।

IMF से मांगी राहत

खान का कहना है कि पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को पिछले साल फायदा हुआ लेकिन कोरोना वायरस के कारण उस पर दबाव बढ़ गया है। खान ने आईएमएफ से उसे दिए गए कर्ज को चुकाने में रियायत देने की सिफारिश भी की है। उन्होंने कहा है कि आईएमएफ से राहत इसलिए मांगी गई है क्योंकि देश की इंडस्ट्रीज और एक्सपोर्टर्स को राहत दी जानी है। इस मुश्किल वक्त में खाने-पीने के सामान की जमाखोरी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की चेतावनी भी खान ने दी है।

पाकिस्तान की बदहाल क्वारैंटाइन का वीडियो वायरल

सोशल मीडिया पर कई वीडियो सामने आए हैं, जिसमें लोगों ने सरकार की पोल खोल दी है। तौसिफ हैदर नाम के यूजर ने एक वीडियो पोस्ट किया है। इसमें वह पाकिस्तान के क्वारैंटाइन कैंप की हालत दिखा रहे हैं। वीडियो में साफ दिख रहा है कि क्वारैंटाइन कैंप में एक साथ 200 से ज्यादा लोगों को रखा गया है। लोग बेड से लेकर जमीन तक पर सोने को मजबूर हैं। न तो मास्क की सुविधा है और न ही डॉक्टर दिख रहे हैं। लोगों ने सरकार पर यह भी आरोप लगाया कि क्योंकि, वह शिया समुदाय से हैं इसलिए सरकार उन्हें मरने के लिए छोड़ रही है।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •