पाक प्रधानमंत्री ने कबूले आतंक से रिश्ते, कहा करीब 40 हजार आतंकी मौजूद

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Pak PM Imran Khan

पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान अपने तीन दिवसीय अमेरिका के दौरे पर हैं| इस दौरान वो अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प समेत कई बड़े नेताओं से भी मिले|

पाक प्रधानमंत्री ने कबूला आतंक से रिश्ता

बीते मंगलवार को इमरान खान ने अमेरिकी सांसदों को संबोधित किया| अपने संबोधन में उन्होंने बीते 15 साल के पाकिस्तान की राजनीति और आतंकवाद से पाकिस्तान के नापाक रिश्ते का जमकर खुलासा किया|

पाक प्रधानमंत्री इमरान खान ने सनसनीखेज खुलासा करते हुए कहा कि पाकिस्तान के अंदर अभी भी 30 से 40 हज़ार आतंकवादी मौजूद हैं, जो वर्तमान में अफ़ग़ानिस्तान और पाक अधिकृत कश्मीर में आतंकी ट्रेनिंग ले रहे हैं| इसके साथ ही इमरान खान ने ये भी बताया कि वर्तमान में पाकिस्तान में करीब 40 आतंकी संगठन सक्रिय है जो पाकिस्तानी सीमाओं के भीतर काम कर रहे हैं|

पिछली सरकारों पर लगाया आरोप

इमरान खान ने बीते 15 साल के पाकिस्तान सरकार को दोषी करार देते हुए कहा कि अल-कायदा अफ़ग़ानिस्तान का आतंकी संगठन है, और पाकिस्तान में कोई भी तालिबानी आतंकी नहीं है| इसके बावजूद अमेरिका पर हुए आतंकी हमले में हमारा नाम आया, जिसका नतीजा ये रहा कि पाकिस्तान की सरकार ने कभी भी अमेरिका को अपनी ज़मीनी हकीकत से रूबरू नहीं करवाया|

अपनी सरकार की तारीफ करते हुए खान ने कहा कि बीते 15 सालों में पाकिस्तान की सरकार ने आतंकवादियों को इस जमीन से उखाड़ फेंकने की राजनैतिक इच्छाशक्ति नहीं दिखाई थी, पर हमारी सरकार पाकिस्तान की पहली ऐसी सरकार है जो आतंकियों के खिलाफ सख्त कदम उठा रही है और इसे जड़ से ख़त्म करने की कवायद में लगी हुई है|

खान के मुताबिक अमेरिका के राष्ट्रपति व अन्य नेताओं से इस बातचीत का होना बेहद अवश्यक था, ताकि उनके रिश्तों में आपसी विश्वास बढ़ सके और पुरानी सारी गलतफहमियों को दूर किया जा सके| खान ने कहा कि, उन्होंने अमेरिका को पुरे ईमानदारी से बताया की पाकिस्तान देशों के संबंधों में शांति बनाये रखने के लिए क्या कर सकता है|

खैर पाकिस्तान इस समय हर मुसीबत से गुजर रहा है| जहाँ एक तरफ वो आर्थिक तंगी से जूझ रहा है वहीँ दूसरी तरफ विभिन्न देशों से बहिष्कार मिलने के कारण अंतर्राष्टीय स्तर पर वो बिलकुल अकेला हो गया है| ऐसे में वो अमेरिका को रिझाने की कोशिश करना कोई आश्चर्य की बात नहीं|

रही बात आतंकियों पर कारर्वाई की, तो एक बात तो तय है कि पाकिस्तान कितने भी दिखावे कर ले पर ये दुनिया जानती है कि वो आतंकवाद को कोई नुकसान नहीं पहुँचायेगा| क्योंकि अगर इमरान को पता है कि पाकिस्तान में 40 आतंकी संगठन हैं और 30 से 40 हज़ार आतंकवादी हैं, और उनके इरादे आतंक के खिलाफ हैं, तो वो उनके खिलाफ कोई सख्त कदम ले चुके होते, इस प्रकार दुनिया के सामने गिनती नहीं पेश कर रहे होते|

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •