पाक पत्रकार का कश्मीर पर सवाल और ट्रंप के जवाब ने पाक और इमरान दोनों को शर्मिंदा कर दिया

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Pak journalist's question on Kashmir and Trump's reply embarrassed both Pakistan and Imran

पाकिस्तान की अमेरिका में एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय बेइज्जती हुई है। पाकिस्तानी पीएम इमरान खान के अमेरिका दौरे में लगातार कुछ न कुछ ऐसा हो रहा है जिसकी वजह से पड़ोसी मुल्क को शर्मिंदगी झेलनी पड़ रही है। पहले पाक राजनयिक मलीहा लोधी ने एक ट्वीट में ब्रिटेन के पीएम को वहां का विदेश मंत्री बता डाला, जिसके बाद उनका जमकर मजाक उड़ा। वहीं, पाकिस्तानी पीएम और अमेरिकी राष्ट्रपति के मुलाकात के बाद सोमवार को एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करने के दौरान भी ऐसी ही एक घटना हुई, जिससे वहां बैठे पाक पीएम शर्मसार हो गए ।

संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र में भाग लेने के लिए अमेरिका गए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को सोमवार को कश्मीर मुद्दे पर एक बार फिर शर्मसार होना पड़ा, जब एक पाकिस्तानी पत्रकार ने कश्मीर को लेकर अमेरिकी राष्ट्रापति डोनाल्डा ट्रंप से एक सवाल पूछ लिया। दरअसल, ट्रंप को पाकिस्तानी पत्रकार द्वारा कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद वहां के हालातों को लेकर पूछा गया सवाल, एक सवाल नहीं, बल्कि वक्तव्य लगा, जिससे वह भड़क गए और नाराजगी में उन्होंने इस पत्रकार के सवाल पर वहां बैठे इमरान खान से पूछा “ ऐसे पत्रकार आप कहां से लाते हैं?” यह सुन इमरान खान शर्मिंदा हो गए और अपनी गर्दन झुका लिया। ऐसा होता देख शो को प्रसारित करने वाले पाकिस्तानी न्यूज चैनल ने अचानक से इसका प्रसारण करना बंद कर दिया।

इसके बाद अमेरिकी राष्ट्रकपति ने इस पत्रकार से यह तक पूछ लिया कि क्या वह पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा हैं? उन्होंने पत्रकार से कहा कि आप एक वक्तपव्यस दे रहे हैं, न की सवाल पूछ रहे हैं।

वहीं, संयुक्त प्रेस वार्ता के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने सोमवार को अपने आप को ‘‘बहुत अच्छा पंच’’ बताते हुए कहा कि वह कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान और भारत के बीच मध्यस्थता के लिए तैयार हैं लेकिन दोनों पक्षों को इस पर सहमत होना होगा। बता दें कि भारत का रुख है कि कश्मीर मुद्दा द्विपक्षीय है और किसी तीसरे पक्ष की इसमें कोई भूमिका नहीं है।

वहीं, इमरान खान ने कहा, ‘‘दुनिया के बड़े और सबसे शक्तिशाली देश की जिम्मेदारी है की वो कश्मीर मुद्दे का हल निकालने में हमारी मदद करें ।’’

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •