सिर्फ कश्मीर नहीं पीओके पर भी होगी बात – रक्षा मंत्री, राजनाथ सिंह

Defense Minister, Rajnath Singh

कश्मीर मसले पर ट्रम्प के विवादास्पद बयान के बाद शुरू हुई सरगर्मी के बीच आज लोकसभा में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह कश्मीर के मुद्दे पर मुखर होकर बोले| उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के साथ अगर कश्मीर के मामले में बात होती है, तो सिर्फ कश्मीर पर नहीं बल्कि पाक अधिकृत कश्मीर पर भी होगी|

आज बुधवार सुबह को लोकसभा में सदन की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष का हंगामा शुरू हो गया| मंगलवार को संसद के दोनों सदनों में विदेश मंत्री एस जयशंकर के बयान के बाद भी विपक्ष प्रधानमंत्री का बयान चाहता था, जब कि अमेरिकी विदेश मंत्रालय और व्हाइट हाउस के अधिकारिक प्रेस विज्ञप्ति में भी कश्मीर मसले का कोई जिक्र नहीं था|

लोकसभा में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, “पाकिस्तान से बात होगी तो सिर्फ कश्मीर पर नहीं, पाक अधिकृत कश्मीर पर भी होगी। कश्मीर के सवाल पर हम किसी की मध्यस्थता स्वीकार नहीं करेंगे क्योंकि यह हमारे राष्ट्रीय स्वाभिमान का प्रश्न है।“ राजनाथ सिंह ने विदेश मंत्री के बयान का सन्दर्भ देते हुए भी कहा कि, “विदेश मंत्री एस जयशंकर जी के कहे अनुसार राष्ट्रतपति ट्रंप व प्रधानमंत्री मोदी के बीच कश्मीर मसले पर चर्चा नहीं हुई। कश्मी र में मध्य‍स्थ्ता का सवाल ही नहीं उठता क्योंकि यह शिमला समझौता के विरुद्ध है।“

ट्रम्प के विवादस्पद बयान के बाद भारत ने साफ़ किया था अपना रुख

भारत ने खुले तौर पर स्पष्ट किया कि कश्मीर सिर्फ दो देशों के बीच का मसला है और इसे सिर्फ दो देशों के द्वारा द्विपक्षीय बातचीत से ही सुलझाया जायेगा, वो भी तब जब पाकिस्तान आतंकवाद को समर्थन देना बंद कर देगा और ईमानदारी से इस समस्या के समाधान के लिए तैयार होगा|

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बार बार यह स्पष्ट किया है कि पाक अधिकृत कश्मीर भी भारत का ही हिस्सा है| गृह मंत्री अमित शाह ने भी चुनाव आयोग से ये गुजारिश की थी कि, भविष्य में पाक अधिकृत कश्मीर वाले क्षेत्र में भी चुनाव कराये जाएँ| इसलिए कश्मीर मामले पर MODI 2.0 की राय में कोई संशय की स्थिति ही नहीं है|