कोरोना पर भारत के हाथों लगी एक और कामयाबी, अस्पताल से डिस्चार्ज हुआ दूसरा मरीज

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

दुनियाभर में और खासकर चीन में कोरोना वायरस का कहर जारी है और कोरोना वायरस थमने का नाम नहीं ले रहा। चीन (China) के वुहान शहर (Wuhan City) से शुरु हुआ कोरोना (Corona) से अबतक सैकड़ों लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं कई हजार लोग अभी भी कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं। इसी बीच भारत (India) ने कोरोना वायरस (Corona Virus) के मामले में अच्छी खबर दी है।

कोरोना वायरस से संक्रमित दूसरा मरीज भी हुआ डिस्चार्ज

भारत को इसपर बड़ी जीत मिली है। भारत ने इस जानलेवा बीमारी से जंग में दोहरी जीत हासिल की है। केरल में कोरोना वायरस से संक्रमित दूसरी मरीज की स्थिति में सुधार होने के बाद उसे अस्पताल से छु्ट्टी दे दी गई है। दरअसल देश के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने जानकारी दी है कि केरल में जिन तीन लोगों में कोरोनावायरस की पुष्टी हुई थी उनमें से एक को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और फिलहाल वह घर पर है। इससे पहले भी, एक मरीज को छुट्टी दे दी गई थी। अब भारत में इस वायरस से जूझकर अस्पताल से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों की संख्या 2 हो गए हैं।

वहीं हरियाणा के मानेसर में निगरानी केंद्र में रखे गए चीन के वुहान शहर से आए 252 छात्रों में कोरोना वायरस को लेकर उनका टेस्ट निगेटिव आया है। केरल के मरीज का इलाज उत्तरी केरल के कसारगोड जिला के कंझनगढ़ के एक सरकारी अस्पताल में चल रहा था। मंत्री ने पुष्टि की है कि इस रोगी की स्थिति में लगातार सुधार हो रहा है। वहीं, इससे पहले कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए केरल के एक छात्र को अलप्पुझा मेडिकल कॉलेज अस्पताल से छुट्टी दी गई थी। वह चीन के वुहान विश्वविद्यालय का छात्र है। इन दोनों मरीजों को कुछ दिन पहले ही कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) पाया गया था। उसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जिन्हें ठीक होने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है।

बता दें कि भारत में अब तक कोरोना वायरस के तीन मामले पॉजिटिव पाए गए हैं, जिसमें से दो की हालत में सुधार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। केरल सरकार ने कहा, अब तक संदिग्ध कोरोना वायरस (COVID-19) मामले के 418 नमूने परीक्षण के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी को भेजे गए, जिनमें से 405 के रिजल्ट नेगेटिव आए हैं। वहीं कोरोना वायरस से संक्रमित तीन लोगों की पुष्टि हुई थी, उनमें से दो लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

चीन में इस खतरनाक वायरस के चलते रोजाना सैकड़ों जानें जा रही हैं। ताजा आंकड़े की बात करें तो मरने वालों की संख्या 1,765 पहुंच गई है। हाल ही में इसके संक्रमण से एशिया के बाहर मौत का पहला मामला सामने आया। फ्रांस घूमने गई एक 80 वर्षीय चीनी महिला पर्यटक की मौत इस वायरस के कारण हुई है। चीन के हुवई प्रांत की महिला 16 जनवरी को फ्रांस गई थीं और संक्रमित होने पर 25 जनवरी को उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उसकी मौत हो गई। वहीं, दुनियाभर के 67 हजार से ज्यादा लोग अब तक इस संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं।

चीन के अलावा हांगकांग में भी एक व्यक्ति की मौत हो गई। यहाँ संक्रमण के 56 मामले सामने आए हैं। मकाउ में भी 10 मामलों की पुष्टि हुई है।

चीन में नोट और सिक्कों के इस्तेमाल पर रोक

कोरोना का कहर झेल रहे चीन को अब ‘कैश’ से संक्रमण फैलने का डर सता रहा है। इसी के चलते उसने प्रभावित इलाकों में न सिर्फ मौजूदा नोट और सिक्कों के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है, बल्कि उन्हें इकट्ठा करके कीटाणुमुक्त बनाने की प्रक्रिया भी तेज कर दी है।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •