मोदी जी के एक फैसले ने बचाई लाखों की जान

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

देशहित में कठोर से कठोर कदम उठाने में मोदी जी कभी पीछे नही रहते, लॉकडाउन इसकी एक और मिसाल है। मोदी सरकार अगर ये फैसला नही करती तो देश में वर्तमान में करीब 70 लाख कोरोना के मामले होते, क्यों चौक गये न…

लॉकडाउन में देरी होती तो होते 70 लाख केस

कहते हैं न एक शासक की दूरदर्शिता ही देश को बड़ी से बड़ी कठिन दौर से उबार सकती है। इसकी सबसे अच्छी मिसाल लॉकडाउन है, क्योंकि दुनिया के कई शक्तिशाली देश लॉकडाउन करे या न करे इसको लेकर असमंजस में थे तो जान बचाने के लिए बिना देरी किया पीएम मोदी ने लॉकडाउन का फैसला किया। और ऐसा नही करते तो देश के भीतर करीब 70 लाख केस कोरोना के होते। सांख्यकी विभाग के मुताबिक लॉकडाउन नहीं होता तो देश में आज कोरोना के संक्रमण मामले 36 से 70 लाख तक हो सकते थे। लॉकडाउन के चलते 50 हजार से ज्यादा लोगों की जिंदगी बचाई गई। कोविड के 23 लाख मामले टाले गए हैं। कुल मिलाकर अनुमान पर देखा गया कि लॉकडाउन की वजह से 14-29 लाख कोविड केस और 37-78 हजार लोगों का जीवन बचाया गया है। वही लॉकडाउन का ये असर भी दिख रहा है कि देश में अब रिकवरी रेट 40 फीसदी से ऊपर चला गया है। तो मरने वालो का प्रतिशत दुनिया के मुकाबले बहुत कम है। जो ये दर्शाता है कि सरकार की सोच हमेशा देशहित में काम करने वाली होती है।

लॉकडाउन के फैसले पर अब मत सवाल उठाना

ठीक वक्त पर ठीक फैसला लेने के चलते आज विश्व में मोदी जी की तारीफ हो रही है लेकिन देस के भीतर कुछ ऐसे लोग भी है जिनके दिमाग में नकरात्मकता के बीज इस तरह के भरे है कि वो सकरात्मकता में भी  बुराई खोज लेते है। कुछ लोग तो ऐसे है जो लॉकडाउन को लगाने को लेकर ही सवाल पूछ रहे थे उनका कहना था कि लॉकडाउन की जगह कोरोना को टेस्टिंग के जरिये खत्म किया जा सकता था उनकी इस छोटी सोच पर देश नही दुनिया भी आज हंस रही है क्योंकि बच्चा बच्चा जानता है कि तालाबंदी के बाद ही टेस्टिंग सफल हो सकती थी जैसा भारत ने किया और कोरोना से जंग में आगे बढ़कर कदम उटाये आज भारत हर दिन लाखो लोगो का टेस्ट कर रहा है। जिससे कोरोना देश में धीरे धीरे कमजोर हो रहा है लेकिन ये सब हुआ है तो शुरूआत में लॉकडाउन लगाने के चलते क्योंकि अगर ऐसा न होता तो लाखों की जान भारत में जा सकती थी खुद पीएम ने जब जब देश के लोगो के साथ बात की तो इस बारे में उन्होने भी बताया। तभी हम कह रहे हैं कि अब ऐसे सवाल पर पूर्णविराम लग जाने चाहिये जिससे कोरोना को तेजी के साथ खत्म किया जा सके।

गर्व है हमे अपने प्रधान पर जिसके चलते भारत विश्व में पूजा जा रहा है। यही वजह है कि देश में हो या विदेश में किये गये सर्वे सब में पीएम मोदी का ग्राफ बढ़ता जा रहा है और क्यों न बढ़े देश हित के लिये मोदी जी लगातार काम भी तो कर रहे हैं।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •