पीएम गतिशक्ति योजना से अब विकास का चक्का और तेजी से भागेगा 

वैसे मोदी सरकार में विकास की गाड़ी तेजी से चल रही थी लेकिन अब इसे और बूस्टर एनर्जी मिल गई है। क्योकि पीएम मोदी ने तेजी से देश में विकास के लिये पीएम गति शक्ति योजना की शुरूआत कर दी है। प्रधानमंत्री गति शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान रेल और सड़क सहित 16 मंत्रालयों को जोड़ने वाला एक डिजिटल मंच है। इस योजना के साथ ही पीएम ने अपने संबोधन में कहा कि आत्मनिर्भर भारत के संकल्प के साथ हम, अगले 25 वर्षों के भारत की बुनियाद रच रहे हैं। पीएम गतिशक्ति नेशनल मास्टर प्लान, भारत के इसी आत्मबल को, आत्मविश्वास को, आत्मनिर्भरता के संकल्प तक ले जाने वाला है।

पहले के प्रोजेक्टस को भी पूरा करने का प्रयास हो रहा

पीएम ने कहा कि हमने ना सिर्फ परियोजनाओं को तय समय-सीमा में पूरा करने का वर्क कल्चर विकसित किया बल्कि आज समय से पहले प्रोजेक्टस पूरे करने का प्रयास हो रहा है। जबकि दुनिया में ये स्वीकृत बात है कि सतत विकास के लिए क्वालिटी इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण एक ऐसा रास्ता है, जो अनेक आर्थिक गतिविधियों को जन्म देता है, बहुत बड़े पैमाने पर रोजगार का निर्माण करता है। हमारे देश में इंफ्रास्ट्रक्चर का विषय ज्यादातर राजनीतिक दलों की प्राथमिकता से दूर रहा है। ये उनके घोषणापत्र में भी नजर नहीं आता। अब तो ये स्थिति आ गई है कि कुछ राजनीतिक दल, देश के लिए जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर के निर्माण पर आलोचना करने लगे हैं। यह मंच उद्योगों की कार्य क्षमता बढ़ाने में मदद करेगा, स्थानीय विनिर्माताओं को बढ़ावा मिलेगा, उद्योग की प्रतिस्पर्धात्मकता को बढ़ाएगा और भविष्य के आर्थिक क्षेत्रों के निर्माण के लिए नई संभावनाओं को विकसित करने में भी मदद करेगा।

100 लाख करोड़ का रखा गया बजट

सरकार ने योजना के तहत 16 मंत्रालयों को एक डिजिटल मंच में ला दिया है जिसके तहत रेल, सड़क और देश की इंफ्रास्ट्रक्चर के लिये तेजी से काम किया जायेगा। सरकारी पैसे की कमी ना आये इसके लिये 100 लाख करोड़ का भारी भरकम बजट रखा गया है। साथ ही 2024 से 2025 तक सभी योजना को पूरा करने का भी लक्ष्य रखा गया है। इस बाबत पीएम मोदी ने बोला कि पहले सरकारी शब्द को रुकावट माना जाता था लेकिन गतिशक्ति अभियान इस अवरोध को समाप्त करेगा। क्योंकि अगर पहले काम की स्पीड देखा जाये तो काफी धीमी होती थी। कारण इसके पीछे एक विभाग का दूसरे विभाग में अटका रहना था जिसे इस योजना के तहत खत्म किया जायेगा तो दो विभाग मिलकर जल्द से जल्द काम को पूरा करेगा जिससे देश की प्रगति तेजी से होगी। गौरतलब है कि पीएम मोदी ने लालकिले से इस योजना की शुरूआत का ऐलान किया था जिसे हर वादे कि तरह कम से कम वक्त में पूरा कर लिया गय़ा तो मोदी सरकार के काम की स्पीड को दर्शाती है।

पीएम मोदी ने एक सपना देख रखा है कि जब हम आजादी के 100 साल मनाये तो भारत दुनिया में हर मामले में दूसरे देशों से काफी आगे रहे और वो इसके लिये लगातार काम भी करते हुए दिखाई दे रही है।

Leave a Reply