भारत सरकार से सेना को मिली खुली छूट, सेना कर रही है तैयारी

पुलवामा मे हुए आंतकी हमले ने एक बार फिर से देश को हिला दिया है और सभी के मन मे बस एक आग यही लगी हुई है कि जल्द से जल्द 40 शहीदों के कातिलों को सजा दी जाये। खुद सरकार ने भी इसके लिये कमर कस ली है। खुद पीएम इस पर अधिकारियों और मंत्रियों के साथ बैठक कर रहे है। इसी क्रम मे सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की सर्वोच्च रक्षा समिति की बैठक बुलाई जिसमे कई बड़े फैसले लिये गये है।

फैसले जिस से उड़ गई है दुश्मनों की नींद:

सेना को कार्यवाही की खुली छूट-हमले के बाद सबसे बड़ा फैसला ये लिया गया है कि जम्मू कश्मीर मे सेना को आंतकियों पर कार्यवाही करने की खुली छूट दी गई है। खुद पीएम मोदी ने अपनी दो जनसभा मे इसकी घोषणा कि पीएम ने साफ किया कि जिस तरह से हमला किया गया है उसकी जितनी निदा की जाये वो कम होगी। लेकिन इसकी साजिश रचने वाले ये जान ले की इस घटना को अंजाम देकर उन्होने बहुत गलत काम किया है। देश की सेना चुन चुनकर उनसे बदला लेगी और इसीलिये मोदी ने सेना को खुली छूट दी है कि वो दुश्मनो से अपने साथियों का खुलकर बदला ले सकें ।

 

 

पाक से मोस्ट फेवर्ड नेशन दर्जा छीना – पाकिस्तान पर कार्यवाही करते हुए मोदी सरकार ने सबसे बड़ा कदम उठाया है और एक तरह से आर्थिक तौर पर पाकिस्तान को झटका दिया है। जिसके चलते मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीन लिया है। इस कदम के बाद पाकिस्तान की माली हालत और खराब होगी जिससे आर्थिक तंगी और फैलेगी। यानी की मोदी सरकार ने एक तरह से पाकिस्तान से आर्थिक युध्द शुरू कर दिया है। पाकिस्तान की रीढ की हड़्ड़ी पर वार किया है, जिससे पाकिस्तान और टूट जायेगा।

दुनिया के सामने पाकिस्तान का असली चेहरा दिखाना: इतना ही नही विश्व मच मे पाकिस्तान को और नंगा करने के लिये खुद विदेश मंत्रालय ने कमान संभाला है जिससे पाकिस्तान मे पल रहे आतंक के आकाओं पर सख्त कार्यवाही हो सके। यहाँ गौर करने वाली बात ये है कि समूचे विश्व ने इस घटना की कड़ी आलोचना की है और आंतक से मिलकर लड़ने की बात की है।

वही खुद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कश्मीर के पुलवामा  जाकर हालात का जायजा लिया। उनके साथ एनआईए की टीम भी थी. गृहमंत्री उस वक़्त खुद को रोक नहीं पाए और शहीदों के पार्थिव शरीर को कंधा देकर यह स्पष्ट कर दिया भारत अपने जवानों और उनके परिवारों के साथ खड़ा है.

 

यानी अगर देखा जाये तो क्या सेना हो या सरकार सभी अभी से एक्शन मे जुट गये है और पीएम ने तो साफ कह भी दिया है कि आंतकियों को बिलकुल छोड़ा नही जायेगा और चुन चुनकर बदला लिया जायेगा।