अब देश में चुनाव को देखकर नही होता काम!

आजकल एक अफवाह तेजी के साथ फैलाई जा रही है कि पीएम मोदी उन राज्यों में ज्यादा तोहफा बांट रहे हैं जहां चुनाव हैं। लेकिन शायद उन्हे ये नही पता होगा कि पीएम मोदी ने देश की सियासत की दिशा और दशा दोनो ही बदल कर रख दी है। तभी तो अब देश में विकास कामों के शिलान्यास चुनाव देख कर नही किये जाते। हिमाचल प्रदेश में पीएम मोदी द्वारा 11 हजार करोड़ की सौगात, कई प्रोजेक्ट्स का किया उद्घाटन इसका जीता जागता सबूत है। इस दौरान पीएम मोदी ने साफ किया कि उनका और हिमाचल का बहुत पुराना नाता है।

हिमाचल से है मेरा भावनात्मक रिश्ता: मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि हिमाचल प्रदेश से मेरा हमेशा से एक भावात्मक रिश्ता रहा है। हिमाचल प्रदेश पिछले चार सालों में तेज गति से आगे बढ़ा है। बीते चार सालों में हिमाचल प्रदेश को पहला एम्स मिला। हमीरपुर, मंडी, चंबा और सिरमौर में चार नए मेडिकल कॉलेज स्वीकृत किए गए हैं। अभी यहां 11 हजार करोड़ रुपये की लागत वाले चार बड़े हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट्स का शिलान्यास या लोकार्पण भी किया गया। इतना ही नही पीएम मोदी ने बोला कि भारत को आज फार्मेसी ऑफ द वर्ल्ड  कहा जाता है। इसके पीछे हिमाचल प्रदेश की बहुत बड़ी ताकत है। कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के दौरान हिमाचल प्रदेश ने ना सिर्फ दूसरे राज्यों बल्कि दूसरे देशों की भी मदद की जिससे देश का नाम रौशन हुआ है।

Image

लक्ष्य से पहले होते नये भारत में काम

पीएम मोदी ने अपनी सरकार के कामों को आमजन के सामने रखा। इतना ही नही उन्होने बोला कि आज भारत के काम करने की स्पीड ऐसी है कि भारत लक्ष्य से पहले ही मंजिल पा रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने 2016 में ये लक्ष्य रखा था कि वो साल 2030 तक अपनी Installed Electricity Capacity का 40 प्रतिशत Non-Fossil Energy Sources से पूरा करेगा। आज हर भारतीय को इसका गर्व होगा कि भारत ने अपना ये लक्ष्य इस साल नवंबर में ही पा लिया है। ये पहला मौका नही है जब भारत इस तरह के काम कर रहा है। ऐसे ही जहां समूची दुनिया ने टीवी महामारी को हटाने के लिये 2030 का लक्ष्य रखा है तो मोदी सरकार ने देश से टीवी बीमारी को खत्म करने के लिये 2025 का लक्ष्य रखा है जो ये बताता है कि कठिन लक्ष्य रखने में पीएम मोदी पीछे नही हटते है।

देश का कोई भी हिस्सा हो, आज वहां कुछ ना कुछ नया हो ही रहा है। फिर वो सड़क की व्यवस्था हो या फिर दूसरी ढ़ांचागत व्यवस्थाए, हर जगह तेजी के साथ काम हो रहा है जो ये बताता कि मोदी सरकार ने वो सियासत बदल कर रख दी है जिसमे चुनाव से पहले ही वादे किये जाये और उन्हे चुनाव तक पूरा किया जाये।