मोदी सरकार यूं ही नहीं दूसरी सरकारों से बदली नजर आती है

सच में देश पुरानी सोच से बाहर निकल चुका है। तभी तो मोदी की टीम के मंत्री अब पहले के मंत्री की तरह काम नहीं करते है जो साफ तौर पर दिखता है। अब गृहमंत्री अमित शाह को ही ले लो, वो कश्मीर में भाषण देने से पहले मंच से बुलेट प्रूफ शीशा हटाते है तो राजनाथ सिंह अपने दफ्तर के वर्करों से मिलते है और ये जानने की कोशिश करते है कि दफ्तर में साफ सफाई का पूरा ध्यान दिया जा रहा है, साथ ही कर्मचारियों से भी उन्होने बात की। इसी तरह की मंत्रियों की खबर आना अब आम हो गया है। तो चलिये बताते है कि आखिर मोदी की टीम के मंत्री कैसे जनता से जुड़े रहते है।

अमित शाह ने हटवाया बुलेट प्रूफ शीशा

अपने कश्मीर दौर के दौरान गृहमंत्री जब एक जन रैली में पहुंचे तो उनके लिये सुरक्षा के लिहाज से भाषण देने वाली जगह पर बुलेट प्रूफ शीशा लगवाया गया था लेकिन गृहमंत्री ने उसे देखकर तुरंत हटवा दिया। ये बताता है कि मोदी सरकार के मंत्रियों को आतंकियों का बिलकुल भी भय नहीं है। कश्मीर के लोगों और सरकार का यही विश्वास तो आज कश्मीर की रंगत बदल रहा है और कश्मीर को भारत से जोड़ रहा है। जबकि पहले कि सरकार के दौरान ऐसा देखने को कम ही मिलता था जो ये दर्शाता था कि जैसे कश्मीर भारत का हिस्सा नहीं।

रक्षा मंत्रालय के दफ्तर एकाएक पहुंचे मंत्री राजनाथ

पिछले सात सालों में ये तो साफ देखा जा रहा है कि मोदी जी की टीम भी मोदी जी की तरह ही पहले की सरकारों की तरह नहीं बल्कि नई स्टाइल से काम करते हुए दिखाई देते है। तभी तो रक्षामंत्री खुद रक्षा मंत्रालय के दफ्तर में वर्करों के बीच में देखे जाते है, खासकर ये जानने के लिये कि उन्हे कोई दिक्कत तो नहीं।ठीक इसी तरह रेलमंत्री दफ्तरों में का जायजा लेते हुए दिखाई देते है। वही स्वास्थ्य मंत्री तो केवल दिल्ली के ही नहीं बल्कि देश के दूसरे अस्पतालों का भी औचक दौरा करते हुए नजर आते है। तो खेल मंत्री अनुराग ठाकुर खुद फिटनेस टेस्ट देते हुए नजर आते है जो ये बताता है कि मंत्री होने के बाद भी सरकार आम जन के करीब रहना चाहता है। इसी तरह विदेश मंत्री एस जयशंकर अवकाश के दिन खुद अपने दफ्तर को साफ करते है जो ये दिखाता है कि ये सरकार किस तरह से जमीन से जुड़ी सरकार है।

कुछ इसी तरह का वादा तो मोदी सरकार ने सत्ता में आने से पहले ही किया था जिसे निभाया जा रहा है। इसीलिये तो जनता मोदी सरकार पर ऐतबार करती है और उनके साथ चलती है।