एनआईए ने पाक की करतूतों का किया पर्दाफ़ाश – पंजाब में आतंक फैलाने की थी साजिश

भारतीय नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने पाकिस्तान की आतंकवाद फैलाने की नई तरकीब का पर्दाफाश किया है | जब ये आतंकवादी जमीनी रास्ते से हिंदुस्तान में हथियार तथा विस्फोटक सामग्री तस्करी के जरिए भेजने मे सफल नही हो पाए तो इन्होने ड्रोन का सहारा लिया | और ड्रोन की मदद से हवाई मार्ग से हिंदुस्तान में हथियार तथा विस्फोटक सामग्री की तस्करी करने लगे | पर यहाँ भी ये भारतीय खुफ़िया संस्थानों कि नजरों से बच नही पाए | एनआईए ने अपनी जांच के बाद यह निष्कर्ष निकाला कि ये हथियार पाकिस्तान द्वारा भेजे गये हैं | 

 एनआईए ने दायर की चार्जशीट

एनआईए के द्वारा बुधवार को मोहाली की एनआईए कोर्ट में 9 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर की गई है। सभी आरोपी, आतंकी संगठन खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स (केजेडएफ) से सम्बन्ध रखते हैं। जिन आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर की गई उनमें आकाशदीप सिंह उर्फ आकाश संधू, बलवंत सिंह, हरभजन सिंह, बलबीर सिंह, मान सिंह, गुरदेव सिंह, शुभदीप सिंह, सज्जनप्रीत सिंह के अलावा रोमनदीप सिंह के नाम दर्ज हैं। साथ ही इस मामले में नामजद दो आरोपी गुरमीत सिंह उर्फ बग्गा और रणजीत सिंह उर्फ नीटा विदेशों में बैठे हैं, जिन्हें भगोड़ा घोषित किया जा चुका है। सभी आरोपियों के खिलाफ अनलॉफुल एक्टिविटी, विस्फोटक पदार्थ अधिनियम समेत विभिन्न धाराओं के तहत चार्जशीट दाखिल की जा चुकी है।

पाक में बैठे आतंकियों के इशारे पर हुई तस्करी

एनआईए की जांच में सामने आया था कि पाकिस्तान में बैठे केजेडएफ प्रमुख रणजीत सिंह उर्फ नीटा व गुरमीत सिंह उर्फ बग्गा पंजाब में आतंक फैलाने की साजिश कर रहे थे। इसी के तहत उनके इशारे पर ही पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए हिंदुस्तान में हथियार तथा विस्फोटक सामग्री तस्करी के जरिए भेजी गई थी। इन आरोपियों द्वारा इस सभी सामग्री का इस्तेमाल करते हुए पंजाब मेंं आतंकवाद  फैलाना इनका मकसद था। जांच में यह भी सामने आया था कि पाकिस्तान से 8 बार ड्रोन के जरिए हथियार तथा विस्फोटक सामग्री हिंदुस्तान भेजी गई थी।