देश में लागू नए ट्रैफिक नियम – जानें क्या और क्यूँ

अंग्रेजी का ये प्रसिद्ध मुहावरा भारत सरकार द्वारा लागू नए ट्रैफिक नियमों पर एकदम सटीक बैठता है| इस मुहावरे का अर्थ है, “या तो सुधर जाओ, या फिर सजा भुगतने को कतारबद्ध हो जाओ|”

उल्लेखनीय है की मोदी सरकार ने पिछले महीने मोटर व्हीकल ऐक्ट 2019 संसद में पारित करवाया था| इस एक्ट के द्वारा सरकार की मंशा है कि, लोगों में ट्रैफिक नियमों को तोड़ने का भय हो| और भारत जैसे अर्थप्रधान मानसिकता वाले देश में लोगों में भय का संचार करने का सबसे उपयुक्त तरीका ट्रैफिक नियमों को तोड़ने पर भारी जुर्माने का प्रावधान करना ही था|

New traffic rules applicable in the country

नए ट्रैफिक नियमों में भारी जुर्माने का प्रावधान

मोटर व्हीकल ऐक्ट 2019 द्वारा केंद्र सरकार ने पुरे देश में ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर लगाये जाने वाले जुर्माने की राशि में 1 सितंबर से खासी बढ़ोतरी की है। जुर्माने की राशि को 10 गुना से लेकर 30 गुना तक बढ़ाया गया है|

मोटर व्हीकल ऐक्ट 2019 की पूरी जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

इन नियमों के लागू होने के बाद से देश भर से भारी जुर्माना लगाये जाने की ख़बरें आ रही है| नियमों को तोड़ने के एवज में गुरुग्राम में एक स्कूटी वाले को 23,000 रुपये तो एक स्कूटर चालक का 24,000 रुपये का चालान पुलिस ने काटा।

पहले दिन ही राजधानी दिल्ली में 3900 चालान कटे

नए ट्रैफिक नियमों के अमल में आने के पहले दिन ही दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने 3900 चालान जारी किए। इनमें से 557 खतरनाक तरीके से ड्राइविंग, 42 ओवरस्पीडिंग, 207 रेड लाइट का उल्लंघन के लिए काटे गए. इसी तरह नोएडा ट्रैफिक पुलिस ने 2 सितंबर को 1329 चालान किए। 334 राइडर्स का चालान बिना हेलमेट पहले टू-व्हीलर चलाने के चलते हुआ, वहीं सीटबेल्ट न पहनने के चलते काटे गए चालान की संख्या 210 रही।

‘भारत अने नेनू’ फिल्म में ट्रैफिक नियमों को तोड़ने पर भारी जुर्माने का जिक्र था

ट्विटर पर वायरल एक विडियो जो 2018 में रिलीज़ हुई महेश बाबू की फिल्म ‘भारत अने नेनू’ से है, में ट्रैफिक नियमों को तोड़ने पर भारी जुर्माने की बात की गयी थी| यह विडियो जमकर सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है, लोग कह रहे हैं कि शायद परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को इस फिल्म से ही जुर्माना बढ़ाने का आइडिया मिला था।

नए ट्रैफिक नियमों द्वारा सुचारू रूप से निगरानी करने के लिए कई शहरों में ‘इंटलीजेंट ट्रैफिक सिस्टम’ शुरू किया गया है, जो ट्रैफिक नियमों को तोड़ने वाले लोगों पर नजर रखेगा| आशा है इस नए नियमों के लागू होने के बाद देश में सड़क हादसों में होने वाले जान-माल के नुकसान में खासी कमी देखने को मिलेगी और धीरे-धीरे लोग इन नियमों को अपनी ट्रैफिक दिनचर्या में आत्मसात कर लेंगे|