नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी के ऐलान के साथ युवा वर्ग को दी नई जान

देश को एक सूत्र में पिरोती मोदी सरकार ने एक और अहम कदम उठाया है। ऐसा कदम जिससे न केवल रोजगार युवकों को मिलेगा बल्कि रोजगार के लिए अलग अलग फार्म भरने से छुटकारा भी मिलेगा। क्योकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में केंद्रीय कैबिनेट ने नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी के गठन को मंजूरी दे दी है।

नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी का क्या होगा काम

वैसे देश के भीतर इस एजेंसी की बहुत दिन से मांग युवक कर रहे थे, जिसे मोदी सरकार ने मान लिया है। ये एजेंसी केंद्र सरकार की सरकारी नौकरियों के लिए एक कॉमन एलजिबिलिटी टेस्ट कराएगी। इससे करीब ढाई करोड़ उम्मीदवारों को एक से अधिक परीक्षाओं में बैठने से छुटकारा मिलेगा। इसकी शुरुआत रेलवे, बैंकिंग और एसएससी की आरंभिक परीक्षाओं को मर्ज करने से होगी। बाद में अन्य परीक्षाएं भी इसमें शामिल की जाएगी। इतना ही सरकार ने साफ किया कि ये एजेंसी साल में दो बार परीक्षा करवायेगी। इसके साथ साथ सरकार ने ये भी जानकारी दी है कि सफल उम्मीदवारों की एक मेरिट लिस्ट तैयार होगी, जो तीन साल तक मान्य रहेगी। हालांकि जो उम्मीदवार अपना स्कोर बेहतर करना चाहेंगे वे दुबारा परीक्षा में बैठ सकेंगे। जो उम्मीदवार प्रारंभिक परीक्षा में सफल होंगे उन्हें बैंक, रेलवे या एसएससी की दूसरे चरण की परीक्षा में शामिल होने के अवसर प्राप्त होंगे। उन्होंने साफ किया कि सिर्फ आरंभिक परीक्षा एक होगी बाकी अन्य औपचारिकताएं और नियम पूर्व की भांति रहेंगे।

युवाओं के लिए होगी वरदान-पीएम मोदी

नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी का ऐलान करने के बाद खुद पीएम मोदी ने ट्वीट करके इसे एक बड़ा और ठोस कदम बताया। पीएम मोदी ने कहा राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी का गठन देश के करोड़ों युवाओं के लिए वरदान साबित होगा और इससे अलग-अलग परीक्षाओं से मुक्ति मिलेगी तथा समय के साथ-साथ संसाधनों की भी बचत होगी। इतना ही नही इससे भर्ती प्रक्रिया में पारदर्शिता को और बल मिलेगा।  वैसे भी मोदी सरकार जब से सत्ता में आई है तब से ही हर सेक्टर में लगातार पारदर्शिता लाने की कवायद में जुटी हुई है। साथ ही साथ आम जन के लिए आसान नियम बना रही है जिससे लोगो को काम करने में दिक्कत का सामना न करना हो। इसके लिये सरकार ने जहां आजादी के बाद के 1500 कानून खत्म किये तो वही किसानो के लिए देश की हर बाजार खोल दी तो नई शिक्षा नीति के जरिये पढ़ाई के साथ साथ कौशल से भरे युवा तैयार करने का रोड मैप बनाया है।

मतलब साफ है सरकार जिस तेजी के साथ आम नागरिकों की सहूलियत के लिए काम कर रही है। उससे देश में एक नया विश्वास जाग उठा था और एक हिम्मत बन रही है कि आने वाले दिनो में भारत विश्व में सबसे आगे होगा। क्योकि अब भारत विश्व के पीछे नही बल्कि विश्व के देशों से तेज आगे बढ़ रहा है और ये सब हो पा रहा है तो वो मोदी सरकार की कुशल नीतियों के चलते जो हर दिन भारत को मजबूत करने में लगी हुई है फिर वो कोई भी सेक्टर क्यो न हो।