संकटमोचन के नये अवतार में है नया भारत !

पिछले 7 सालो में भारत की छवि पूरी तरह से बदली हुई नजर आने लगी है, भारत एक नये अवतार में दिख रहा है। क्योंकि भारत दुनिया में आये संकट से ना केवल निकलता है बल्कि विश्व के लिये संकटमोचन की भूमिका भी निभाता है और इसका एक नहीं कई उदाहरण है जो आपके सामने हम रखने जा रहे है।

सूडान में जब हुआ गृहयुद्ध तो भारतीयों सहित कई विदेशी नागरिकों को बचाया

सूडान में जिस वक्त गृहयुद्ध शुरू हो गया तो दुनिया के देशों को वहां रह रहे अपने लोगों को लेकर चिंता होने लगी। सभी अपने लोगों को बचाने में जुट गये। इस दौरान भारत ने भी अपने नागरिकों को बचाने के लिए ‘ऑपरेशन संकटमोचन’ की शुरूआत की जिसकी कमान खुद विदेश राज्यमंत्री वी. के सिंह ने संभाली इस दौरान उन्होने 143 भारतीयों को एयरलिफ्ट करके निकाला। साथ ही नेपाल और कई दूसरे लोगों को भी उनके देश पहुंचाने की व्यवस्था की।

Operation Sankat Mochan, 156 Indian People Safely Rescued From South Sudan  - रंग लाया 'ऑपरेशन संकटमोचन', दक्षिण सूड़ान से सुरक्षित लौटे 156 लोग |  Patrika News

कोरोना महामारी के दौरान चीन से लोगों को निकाला

इसी तरह जब कोरोना रूपी संकट खड़ा हुआ तो भारत ने एक बार फिर कमान संभाली और दुनिया को इससे बचने के उपाय बताये, साथ ही उन लोगों को चीन के बुहान से बचाकर दूसरे देश पहुंचाया जो उस दौर में चीन में फंसे हुए थे। इस दौरान भारत ने पाकिस्तान के लोगों को भी चीन से निकाला जबकि पाकिस्तान अपने लोगों की कोई मदद नहीं कर रहा था। तब भारत आगे आकर पाक, बांग्लादेश, सहित और भी कई देशों के लोगों को चीन के बुहान शहर से बचाकर सकुशल उनको उनके देश पहुंचाया।

चीन में 213 की मौत, चीन से भारतीयों को लेकर रवाना हुआ एयर इंडिया का विमान - coronavirus  china death toll updates 31 01 2020 wuhan indian evacuate corona virus who  latest news lbs - AajTak

अफगानी सहित विदेशी नागरिकों को किया एयरलिफ्ट

अफगान में तालिबान के शासन के आने के बाद से ही देश में जिस तरह से भय का माहौल बना है उसी का परिणाम है कि अफगान में रहने वाला हर नागरिक देश छोड़ने के लिये तैयार है। ऐसे मौके पर भारत वहां संकटमोचन के रूप में सामने आया है। ना केवल भारतीयों को वहां से एयरलिफ्ट किया जा रहा है बल्कि इस दौरान कई अफगानी सहित दूसरे मुल्क के लोगों को भी भारत ने बचाया है। यही वजह है कि लेबनान के राष्ट्रपति ने अपने नागरिकों को बचाने के लिए भारत को धन्यवाद बोला है।

वैसे इतिहास गवाह है कि जब जब दुनिया में संकट का बादल छाया है भारत ने जन मन और धन से विश्व की सेवा की है। इसका उदाहरण उस वक्त भी सामने आया जब कोरोना महामारी के दौरान भारत ने समूचे विश्व में हाइड्रोक्लोरोक्वीन दवा को पहुंचाया। वही वैक्सीन भी समूची दुनिया को मोहइया करवाई जो ये साफ बताता है कि भारत मानवता की रक्षा के लिये हमेशा आगे आकर पहल करता है और सफल होता है।