भारत को तेजी से आगे बढ़ाने के लिये नये सपने देखने होंगे- पीएम मोदी  

पीएम मोदी ने उज्जवला योजना के दूसरे चरण की आज शुरूआत करते हुए बोला कि अब वक्त आ चुका है कि देश आगे के सपने देखे और देश ऐसा कर रहा है, नया सोच रहा है और तेजी से आगे बढ़ रहा है।

भूलभूत सुविधा देने में सफल रही सरकार

इस दौरान पीएम मोदी ने देश के लोगों को बताया कि पिछले 7 सालो में देश की जनता को मूलभूत सुविधा देने में सरकार सफल रही है फिर वो गरीबों को गैस चूल्हे देने की बात हो या फिर पक्का मकान देने की। लोगों बिजली पानी जैसी जरूरतो को लगभग पूरा किया जा रहा है। लेकिन अब देश के कल को मजबूत करने के लिये नये सपने देखने होंगे जिन्हे पूरा करने के लिये कठिन प्रयास भी करने होंगे। पीएम मोदी ने अपनी इस भाषण से एक तरह से साफ संदेश दे दिया है कि देश को आगे ले जाने के लिए उनके दिमाग में नया खाका तैयार है और वो नई चुनौतियों से निपटने के लिये देश को तैयार कर रहे है तो दूसरी तरफ उनका कहने का मतलब ये भी है कि 21 सदी में भारत को नये तरीके से सोचना होगा और काम करना होगा जिससे देश बुलंद इबारत लिख सके। इस बीच उन्होने बुंदेलखंड के महान संतान मेजर ध्यान चंद की भी चर्चा की। उन्होने बोला ‘हमारे दद्दा ध्यानचंद’। देश के सर्वोच्च खेल पुरस्कार का नाम अब मेजर ध्यान चंद खेल रत्न पुरस्कार हो गया है। मुझे पूरा को विश्वास है कि ओलंपिक में हमारे युवा साथियों के अभूतपूर्व प्रदर्शन की बीच खेल रत्न के साथ जुड़ा दद्दा का ये नाम लाखों करोड़ों युवाओं को प्रेरित करेगा।

इधर-उधर भटकने की जरूरत नहीं’

उज्ज्वला 2.0 की शुरूआत करते हुए पीएम मोदी ने पहले इसके हितकरो से भी बात की और ये जानने की कोशिश भी किया कि इस स्कीम से उनके जीवन में क्या सुधार हुआ है। उधर पीएम ने इस योजना के बाबत बोला, “अब मेरे श्रमिक साथियों को एड्रेस के प्रमाण के लिए इधर-उधर भटकने की जरूरत नहीं है। सरकार को आपकी ईमानदारी पर पूरा भरोसा है। आपको अपने पते का सिर्फ एक सेल्फ डिक्लेरेशन, यानि खुद लिखकर देना है और आपको गैस कनेक्शन मिल जाएगा।”उन्होंने कहा, सरकार का प्रयास इस दिशा में भी है कि आपकी रसोई में पानी की तरह गैस भी पाइप से आए। ये गैस सिलेंडर के मुकाबले बहुत सस्ती भी होती है। उत्तर प्रदेश सहित पूर्वी भारत के अनेक जिलों में PNG कनेक्शन देने का काम तेजी से चल रहा है। पीएम मोदी ने कहा,  अब देश मूल सुविधाओं की पूर्ति से, बेहतर जीवन के सपने को पूरा करने की तरफ बढ़ रहा है। समर्थ और सक्षम भारत के इस संकल्प को हमें मिलकर सिद्ध करना है। इसमें बहनों की विशेष भूमिका होने वाली है।”

वैसे अगर देखा जाये तो भारत में उज्ज्वला योजना एक बहुत बड़ा कदम था जिसके तहत गरीब महिलाओं के जीवन में बहुत बड़ा सुधार देखा गया जो आगे भी जारी रहेगा।