न ट्रैफिक रुका…न VIP जैसा मूवमेंट, सुबह-सुबह पीएम मोदी पहुंचे रकाबगंज साहिब, 20 मिनट बिताए, टेका माथा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गुरुद्वारा रकाबगंज पहुंचने के दौरान ना तो कोई पुलिस बंदोबस्त किया गया। ना ही आम आदमी को  दर्शन से रोका गया  । इसके साथ किसान  आंदोलन के बीच गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब में पीएम मोदी की अरदास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार सुबह अचानक दिल्‍ली स्थित गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब पहुंच गए। उन्‍होंने श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी के सर्वोच्‍च बलिदान के लिए अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। मोदी ने कुछ तस्‍वीरें ट्वीट की हैं जिनमें वह गुरुद्वारा परिसर में नजर आ रहे हैं। पीला कुर्ता पहने मोदी ने कहा कि श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी की दयालुता से बेहद प्रेरणा लेते हैं। उन्‍होंने कहा कि वे यहां आकर खुद को बेहद सौभाग्‍यशाली महसूस कर रहे हैं। मोदी के रकाबगंज गुरुद्वारा जाने की कुछ तस्‍वीरें देखिए।

 

जब गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब पहुंचे पीएम मोदी

मोदी के रकाबगंज गुरुद्वारा जाने का कोई कार्यक्रम नहीं था। वह रविवार सुबह अचानक ही यहां पहुंच गए। श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी की पुण्‍यतिथि शनिवार को थी लेकिन मोदी तब यहां नहीं आ पाए थे। रकाबगंज गुरुद्वारे में ही सिखों के नौवें गुरु, श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्‍कार हुआ था। दिल्‍ली में सिखों के लिए सबसे पवित्र जगहों से, रकाबगंज गुरुद्वारा एक है। पीएम मोदी का यहां आना काफी महत्‍वपूर्ण है क्‍योंकि कुछ किलोमीटर दूर दिल्‍ली की सीमाओं पर किसान, ,खासतौर से पंजाब के, नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं।

मोदी बार-बार कर रहे समझाने की कोशिश

पीएम कई मंचों से किसानों को नए कानूनों के फायदे गिनाते रहे हैं। जिन आपत्तियों को किसान संगठनों ने उठाया है, वे उनपर भी बोलते रहे हैं। मोदी ने किसानों को भरोसा दिया है कि एमएसपी खत्‍म नहीं होगा, न ही मंडियां खत्‍म की जाएंगी। प्रधानमंत्री करीब 15 मिनट तक गुरुद्वारे में रहे। रायसीना हिल्‍स से पीछे स्थित इस गुरुद्वारे में पिछले 25 दिन से ‘सिख समागम’ चल रहा है।

Originally Published At-NavbharatTimes