वैश्विक स्तर पर भारत की आवाज बनेगा DD इंटरनेशनल, BBC और CNN की तर्ज पर अन्य देशों में बनेंगे ब्यूरो

नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। वैश्विक मंचों पर भारत के नजरिये को मजूबत आवाज देने के लिए प्रसार भारती ने दूरदर्शन इंटरनेशनल चैनल लांच करने की दिशा में पहला कदम बढ़ा दिया है। मौजूदा वैश्विक भू-राजनीतिक और आर्थिक कूटनीति की व्यवस्था में भारत के दृष्टिकोण को स्थापित करने के मकसद से इस चैनल की कार्ययोजना बनाई जा रही है। स्वाभाविक रूप से प्रस्तावित डीडी इंटरनेशनल चैनल का एक मुख्य मकसद समसामयिक विषयों पर देश के बारे में वैश्विक मीडिया के एकांगी नजरिये का जोरदार जवाब देते हुए भारत की सही तस्वीर पेश करना भी होगा।

प्रसार भारती बोर्ड से हरी झंडी मिलने के बाद दूरदर्शन ने डीडी इंटरनेशनल को स्वरूप देने के लिए कसंलटेंट (परामर्शदाता) नियुक्त करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। बोर्ड ने कसंलटेंट नियुक्त करने के लिए वैश्विक निविदा आमंत्रित की हैं और 28 मई तक टेलिविजन ब्राडका¨स्टग क्षेत्र की सलाहकार कंपनियों से आवेदन मांगे गए हैं। अमेरिका के सीएनएन न्यूज चैनल और बीबीसी की तर्ज पर दूरदर्शन के इंटरनेशनल चैनल की जरूरत लंबे अर्से से महसूस की जा रही है और बीते कुछ सालों में इस प्रस्ताव को लेकर सुगबुगाहट भी हुई। पिछले दिनों में भारत जहां वैश्विक मंच पर मजबूत होकर उभरा है वहीं कई बार अंतरराष्ट्रीय मीडिया की ओर से पक्षपात भी महसूस किया जाता रहा है।

प्रसार भारती ने कंसलटेंट नियुक्त करने की निविदा में ही स्पष्ट कर दिया है कि भारत के वैश्विक रणनीतिक उद्देश्यों की खातिर डीडी इंटरनेशनल की अंतरराष्ट्रीय मीडिया में मौजूदगी को स्थापित करना है। ताकि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की आवाज और नजरिये को भू-राजनीतिक और आर्थिक कूटनीति के स्टेक होल्डर्स के बीच मजबूती से रखा जा सके। प्रसार भारती का स्पष्ट मकसद डीडी इंटरनेशनल को दुनिया में भारत से संबंधित खबरों के लिए सबसे प्रमाणिक स्त्रोत के रूप में स्थापित करना है। देश के इकलौते सरकारी ब्राडकास्टर प्रसार भारती दूरदर्शन के चैनलों के जरिए सबसे बड़ा टीवी प्रसारक है। दूरदर्शन अभी हिंदी और अंग्रेजी के अलावा देश की लगभग सभी प्रमुख क्षेत्रीय भाषाओं के 91 टीवी चैनलों का प्रसारण करता है।

अंतरराष्ट्रीय दर्शकों तक पहुंचाना होगा भारत से जुड़ा सकारात्मक पहलू

इस चैनल के रोडमैप और प्राथमिकता में भारत से जुड़े सकारात्मक पहलू को अंतरराष्ट्रीय दर्शकों तक पहुंचाना होगा। कंसलटेंट से इन सबके बारे में रूपरेखा मांगी गई है। दुनिया के चर्चित पत्रकारों-स्तंभकारों को भी डीडी इंटरनेशनल के कार्यक्रमों से जोड़ने की योजना है। प्रसार भारती अपने इन कार्यक्रमों को दुनिया के दूसरे देशों में प्रमुखता से दिखाने और इसकी मजबूत उपस्थिति के लिए विश्व की प्रमुख भाषाओं में भी अपनी पहुंच बनाएगा। कंसलटेंट कंपनी चैनल से जुड़े कार्यक्रमों की पूरी रूपरेखा के अलावा इसके लिए देश और विदेश में जरूरी मैन पावर का खाका भी प्रसार भारती बोर्ड को देगी।

 

Published On: Jagran