नरेंद्र मोदी ने अरुण जेटली को भावुक ‘श्रद्धांजलि’ दी

emotional 'tribute' to Arun Jaitley

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में ‘श्रद्धांजलि सभा’ के दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली को श्रद्धांजलि अर्पित की, जिनका पिछले महीने निधन हो गया था। प्रधानमंत्री ने कहा की ‘कभी सोचा नहीं था कि कभी ऐसा भी दिन भी आएगा । यह मेरा दुर्भाग्य है कि आज मेरे नजदीक में एक अच्छे पुराने दोस्त और उम्र में छोटे दोस्त को श्रद्धांजलि देने की नौबत आई है। पीएम मोदी ने यह कहते हुए उन्हें याद किया कि “उनका जीवन हमें राष्ट्र के लिए कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित करता है”।

मोदी ने जेटली को अपना “बहुत करीबी दोस्त” बताते हुए कहा कि वह “बहुत प्रतिभा के धनी ” थे। उनका बहुआयामी व्यक्तित्व था। मुझे उनकी उपस्थिति याद आती है।

मोदी ने कहा, “जेटली जी को स्वास्थ्य संबंधी बीमारियां थीं, लेकिन अगर कोई उनसे बात करता, तो वह राष्ट्र के बारे में अधिक चिंतित होते थे। राष्ट्र की सेवा करने से उन्हें ऊर्जा मिलती थी” । मोदी ने कहा कि जेटली को जो भी काम मिला, उसने उसके लिए जबरदस्त मूल्य जोड़ा।

Narendra Modi paid emotional 'tribute' to Arun Jaitley

प्रधान मंत्री ने कहा, “हम सभी का अरुण जी के साथ बहुत सारी यादें याद होंगी। उनका जीवन हमें राष्ट्र के लिए कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित करता है।”

‘श्रद्धांजलि सभा’ में भाजपा सहित विभिन्न दलों के नेताओं ने दिवंगत अरुण जेटली को श्रद्धांजलि देते हुए उन्हें एक प्रख्यात वक्ता, कुशल सांसद और व्यवहारकुशल नेता के रूप में याद किया जो सरकार एवं राजनीतिक दलों के बीच सेतु की भूमिका निभाते थे। भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सहित कांग्रेस, सपा, तृणमूल, बसपा, राकांपा, अन्नाद्रमुक, द्रमुक के अनेक वरिष्ठ नेताओं एवं केंद्रीय मंत्रियों ने मंगलवार को पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली को श्रद्धांजलि दी।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, भारत की राजनीति में एक खालीपन आ गया है। भारत के सभी राजनीतिक दल भी यही महसूस करते है। उन्होंने कहा कि बुद्धिजीवियों के बीच भाजपा को लेकर सोच को बदलने में अगर किसी की भूमिका रही है तो वह अरुण जेटली की रही है।

बता दे की अरुण जेटली का देहांत 24 अगस्त 2019 को 66 साल की उम्र में हो गया था।