ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था अब ‘भारत’ के हाथ, नारायण मूर्ति के दामाद बने ब्रिटेन के वित्त मंत्री

ब्रिटेन के मंत्रिमंडल में अब भारतीय मूल के ऋषि सुनक को ब्रिटेन का वित्त मंत्री बना दिया गया है। ब्रिटेन में जन्मे ऋषि सुनक पिछले साल रिचमंड (यॉर्क्स) सीट से दूसरी बार सांसद चुने गए थे। आपको बता दे की 39 वर्षीय ऋषि सुनक भारत की जानी-मानी आईटी कंपनी इनफोसिस के संस्थापक नारायण मूर्ति के दामाद हैं।

यूरोपीय यूनियन से हटे ब्रिटेन में यह पद अब बेहद महत्वपूर्ण हो गया है। क्योंकि आने वाले महीनों में ब्रिटेन को दुनिया के देशों से अपने व्यापार संबंधों का नया ढांचा खड़ा करना है। सुनक इससे पहले वित्त मंत्रालय में राज्य मंत्री थे और उन्हें ब्रिटिश खजाने के मुख्य सचिव का दर्जा प्राप्त था। उन्हंह ब्रिटिश सरकार के उभरते सितारे के रूप में देखा जा रहा है। 39 वर्षीय सुनक का कार्यालय प्रधानमंत्री के डाउनिंग स्ट्रीट आवास एवं कार्यालय के ठीक बगल में होगा। ब्रिटिश मीडिया मौजूदा परिप्रेक्ष्य में वित्त मंत्री सुनक को सरकार में प्रधानमंत्री के बाद दूसरा सबसे महत्वपूर्ण व्यक्ति मान रहा है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने बयान जारी कहा है- महारानी ने ब्रिटिश खजाने के प्रमुख के तौर पर ऋषि सुनक की नियुक्ति को स्वीकृति दे दी है।

बोरिस जॉनसन की कैबिनेट में भारतीयों को महत्वपूर्ण पद

ब्रिटेन में प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की कैबिनेट में अब भारतीय मूल के तीन सांसदों को महत्वपूर्ण विभागों का मंत्री बनाया गया है। दो अन्य मंत्री – प्रीति पटेल और आलोक शर्मा – भी बोरिस जॉनसन की कैबिनेट में हैं। 47 वर्षीया प्रीति पटेल को पिछले साल ही बोरिस जॉनसन ने गृह मंत्री बनाया था।

गौरतलब बात यह है की बोरिस जॉनसन ने प्रीति पटेल को पाकिस्तानी मूल के साजिद जाविद को हटाकर ये ज़िम्मेदारी सौंपी थी और अब एक बार फिर मंत्रिमंडल में बड़े उलटफेर करते हुए पाकिस्तानी मूल के वित्त मंत्री साजिद जाविद के इस्तीफ़ा के बाद उनकी जगह अब भारतीय मूल के ऋषि सुनक को ब्रिटेन का वित्त मंत्री बना दिया गया है।

चुनाव प्रचार में भी ऋषि ने अहम रोल निभाया

ऋषि को कंजर्वेटिव पार्टी के उभरते सितारे के रूप में देखा जाता है। मीडिया इंटरव्यू के लिए सरकार अक्सर उन्हें ही आगे रखती है। इसके अलावा प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के चुनाव प्रचार में भी उन्होंने अहम रोल दिखाया। कई मौकों पर टीवी डिबेट में प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की जगह पर ऋषि ने हिस्सा लिया।

सुनक ने की है ऑक्सफोर्ड से अर्थशास्त्र की पढ़ाई

सुनक ने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से दर्शन शास्त्र, राजनीति अर्थशास्त्र और एमबीए की पढ़ाई की है। वह पहली बार 2015 में सांसद बने थे और उसके बाद उन्होंने कंजरवेटिव पार्टी में तेजी से तरक्की की।

राजनीति में आने से पहले सुनक एक सफल कारोबारी भी रह चुके हैं। वह ब्रिटेन की छोटी कंपनियों का वित्त पोषण करने वाली एक अरब पाउंड की एक निवेश कंपनी के सह-संस्थापक रहे हैं। सुनक ब्रेक्जिट के बड़े समर्थक रहे हैं और उनका मानना है कि ब्रेक्जिट से ब्रिटेन के छोटे कारोबारियों को मदद मिलेगी।

कौन हैं ऋषि सुनाक

ऋषि सुनाक का जन्म ब्रिटेन में हुआ। उनकी मां फार्मासिस्ट हैं, जबकि पिता ब्रिटिश नेशनल हेल्थ सर्विस (एनएचएस) में डॉक्टर हैं। सुनाक ऑक्सफोर्ड और स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से एमबीए ग्रैजुएट हैं। वो एक बिलियन डॉलर की ग्लोबल इनवेस्टमेंट फर्म के को-फाउंडर है। ऋषि की नारायण मूर्ति की बेटी अक्षता मूर्ति से कैलिफोर्निया में मुलाकात हुई थी। इसके बाद दोनों ने शादी कर ली।