मोदी की वंदे भारत एक्सप्रेस कमाई में तोड़ रहा है रिकॉर्ड

Varanasi_from_New_Delhi_railway_station

भारतीय रेलवे की पहली बिना इंजन वाली ट्रेन ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ हर महीने सात करोड़ की कमाई कर रही है। इस तरह अनुमानतः ये पहली स्वचालित सेमी हाईस्पीड ट्रेन 12 से 15 महीने में अपना पूरा कॉस्ट निकाल लेगी। फिलहाल यह ट्रेन दिल्ली-वाराणसी रूट पर चल रही है। गौरतलब है की इस ट्रेन को इसी साल 15 फरवरी से शुरू किया गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था।

100 करोड़ है ट्रेन की लागत

ट्रेन 18 (वंदे भारत एक्सप्रेस) को तैयार करने 100 करोड़ रुपये का खर्च आया था। फिलहाल ट्रेन की सभी सींटे आगामी कई दिनों के लिए फुल हैं। यह ट्रेन दिल्ली से वाराणसी के बीच हफ्ते में पांच दिन चलती है।

नहीं मिलती कोई सब्सिडी

Vande Bharat Express में यात्रा करने वाले यात्रियों को किसी तरह की कोई सब्सिडी नहीं मिलती है। वहीं अन्य ट्रेनों के मुकाबले इसका किराया भी ज्यादा है। फिलहाल वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन अपनी अधिकतम गति 160 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से नहीं दौड़ रही है। इसके पीछे ट्रैक और अन्य कारक जिम्मेदार हैं।

कितना है किराया

Vande Bharat Express में AC चेयर किराया 1,760 रुपये और एग्जिक्यूटिव क्लास का किराया 3,310 रुपए है। जबकि वाराणसी से नई दिल्ली तक का चेयर कार का किराया 1,700 रुपए और 3.250 रुपए एग्जिक्यूटिव क्लास का किराया है।