मोदी को भाता है गलोब्ल लीडर का तमगा – सार्क के बाद जी20 अगला टारगेट

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई मे एक उदाहरण बनकर उभरे हैं| ये उनकी दूरदर्शिता और सूझ-बूझ का ही कमाल है कि भारत ने इस महामारी का सामना सफलता के साथ किया है| प्रधानमंत्री मोदी ने इसके साथ ही पुरी दुनिया मे अपनी लीडरशिप का लोहा मनवा लिया| अलग-अलग वैश्विक प्लैटफॉर्म पे विभिन्न देशों को एक साथ लाते हुए उन्होंने अपने वैश्विक लीडर के तमगे को बिल्कुल सही साबित किया|

सार्क देशों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग

पीएम मोदी ने कोरोना से लड़ने के लिए सार्क देशों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मीटिंग का न्योता दिया था, ताकि कोविड-19 के खिलाफ साथ मिलकर लड़ा जा सके। कुछ समय पहले तक भारत सार्क से अधिक बिमस्टेक को प्रमोट कर रहा था, लेकिन पीएम मोदी ने वक्त की नजाकत को समझते हुए सार्क को दोबारा से जीवंत बनाने का काम किया है। यहां तक कि उन्होंने उस पाकिस्तान को भी न्योता दिया है, जहां हुए सार्क सम्मेलन में कुछ साल पहले भारत समेत बांग्लादेश, भूटान और अफगानिस्तान ने हिस्सा लेने से मना कर दिया था।

सार्क देशों के लीडर बने मोदी!

इस समय सार्क देशों में भारत के अलावा अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान और श्रीलंका हैं। पाकिस्तान की वजह से पिछले कुछ समय से सार्क सम्मेलन टल रहा था, लेकिन मौका देखते ही पीएम मोदी ने शानदार रणनीति के तहत सभी सार्क देशों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का न्योता दे दिया।

यह इस समय बहुत जरूरी भी था, क्योंकि भारत की सीमाएं पाकिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, नेपाल, श्रीलंका से जुड़ती हैं। अफगानिस्तान और मालदीव से भी भारत का सीधा आना जाना है। ऐसे में इन देशों से कोरोना वायरस का संक्रमण आसानी से भारत पहुंच सकता है। इसे रोकने के लिए ये जरूरी था कि सभी पड़ोसी देश भारत की तरह की मजबूती से कोरोना वायरस के खिलाफ सख्त कदम उठाएं, ताकि एक दूसरे को इस महामारी से बचाया जा सके।

सार्क के बाद जी20 अगला टारगेट

पीएम मोदी ने सार्क देशों को साथ लाकर दक्षिण एशिया में तो अपनी लीडरशिप का लोहा मनवा ही दिया है, अब उनका अगला टारगेट जी20 देश हैं। इस बात की पुष्टि खुद ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने की है। पीएम मोदी ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए जी20 देशों के बीच संयुक्त रणनीति बनाने का प्रस्ताव दिया है।

कुछ समय पहले तक ये दिखता था कि अमेरिका, ब्रिटेन जैसे देश जी20 के लीडर की तरह सामने आते थे, लेकिन कोरोना से जूझने के इस दौर में भारत ने लीडरशिप की जिम्मेदारी उठाई है और पीएम मोदी इसे बखूबी निभाते नजर आ रहे हैं। बता दें कि जी20 देशों में भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया, अर्जेंटीना, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, इंडोनेशिया, इटली, जापान, कोरिया, मेक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, ब्रिटेन, अमेरिका और यूरोपियन संघ हैं। पीएम मोदी ने इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू से भी बात की है।

पीएम मोदी के ये कदम दिखाते हैं कि वह खुद को दुनिया में वर्ल्ड लीडर के तौर पर स्थापित कर चुके हैं|


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •