मोदी ने की उमर अब्दुल्ला के आह्वान की जमकर सराहना

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के राजनितिक कुशलता को तो सभी जानते हैं | उनके विरोधी भी इस बात को भली-भांति मानते हैं | लेकिन इंसानियत के मामले मे भी प्रधानमंत्री किसी से कम नही हैं | कई मौकों पर उन्होने अपनी दरियादिली दिखाई है | वो अपने विरोधियों की तारीफ़ करने से भी नही चुकते | आज भी कुछ ऐसा ही हुआ |

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के फूफा के निधन पर दुख जताया और नेशनल कांफ्रेंस के नेता के इस आह्वान की सराहना की कि जनाजे में समर्थक बड़ी संख्या में नहीं पहुंचे और घर से ही दिवंगत आत्मा के लिए दुआ करें।

मोदी ने ट्वीट किया, ”उमर अब्दुल्ला, आपके और पूरे परिवार के प्रति मेरी संवेदना है। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे।” उन्होंने कहा कि दुख की इस घड़ी में उमर ने बड़ी संख्या में लोगों के जमा नहीं होने का आह्वान किया है जो ”सराहनीय है और यह कोविड-19 के खिलाफ भारत की लड़ाई को मजबूती देगा।” 

गौरतलब है कि उमर ने रविवार रात ट्वीट किया कि उनके फूफा मोहम्मद अली मट्टू का निधन हो गया है। वह कुछ समय से बीमार थे। उमर ने कोरोना वायरस संकट से निपटने के लिए घोषित 21 दिनों के लॉकडाउन के मद्देनजर लोगों से कहा कि वे घर से ही दुआ करें और जनाजे में शामिल होने के लिए जमा नहीं हों।

पीएम मोदी ने किया था लॉकडाउन का ऐलान

देश में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने देश में 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान किया था। पीएम ने लोगों से इस बीमारी से बचने के लिए अपने घर के आगे लक्ष्मण रेखा खींचने की अपील की थी। उन्होंने कहा था कि सोशल डिस्टेंसिंग से ही यह बीमारी रुकेगी। केंद्र सरकार ने लॉकडाउन को सख्ती से लागू करने के लिए राज्यों को आदेश दिया है। 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •