नमो प्रधान हैं तो चिंता की क्या बात है, 93.5% लोगों को मोदी पर भरोसा

नमो प्रधान हैं तो चिंता की क्या बात है, 93.5% लोगों को मोदी पर भरोसा  

जिस तरह से पीएम मोदी कोरोना संकट से निपट रहे हैं, हर तरफ बस मोदी मोदी जी का ही डंका बज रहा है। एक सर्वे के मुताबिक, 93 प्रतिशत से ज्यादा भारतीयों को विश्वास है कि मोदी सरकार कोरोना संकट से अच्छे से निपट रही है। वहीं, अमेरिकी सर्वे कंपनी मॉर्निंग कंसल्ट ने अपने सर्वे में पीएम मोदी की अप्रूवल रेटिंग किसी भी ग्लोबल लीडर्स से बहुत आगे रखी थी।  

लॉकडाउन से जीता लोगों का भरोसा  

एक सर्वे में साफ निकलकर आया है कि कोरोना से बचाने के लिए जिस तरह मोदी सरकार ने तुरंत कदम उटाये हैं उससे ही देश में कोरोना रूपी दानव अपना असर नहीं दिखा पाया है। इस बात को देस की जनता भी मान रही है। तभी तो 93.5% भारतीयों को यकीन है कि मोदी सरकार कोरोना संकट से बहुत असरदार तरीके से निपट रही है। 

केंद्र सरकार ने 25 मार्च से 21 दिन के लिए देशव्यापी लॉकडाउन का ऐलान किया था जिसे 3 मई तक बढ़ा दिया गया है। IANS-C-voter कोविड-19 ट्रैकर के मुताबिक, लॉकडाउन के पहले दिन 76.8% लोग मोदी सरकार पर भरोसा कर रहे थे। 21 अप्रैल तक 93.5% देशवासी मोदी सरकार के कदमों से खुश हैं और उनका मानना है कि सरकार कोरोना संकट से प्रभावी तौर पर निपट रही है। 

दुनिया में भी मोदी नबंर वन  

देश में ही नही बल्कि विदेश में भी कोरोना से निपटने के चलते मोदी जी के नाम की तारीफ हो रही है। मंगलवार को अमेरिकी सर्वे कंपनी मॉर्निंग कंसल्ट ने पीएम मोदी को दुनिया के सबसे बेहतर नेता के तमगे से नवाजा था। इसके साथ साथ UN हो या WHO सभी वक्त वक्त पर मोदी के कुशल नेतृत्व की तारीफ करते हुए नही थक रहे हैं। जो ये बता रहा है कि आज मोदी जी की छवि समूचे विश्व में क्या बन गई है। ऐसा सिर्फ इसलिये नही हो रहा है कि वो अपने देश में अच्छा काम कर रहे हैं बल्कि मानवता की रक्षा के लिये वो लगातार विश्व को भी सहयोग कर रहे हैं जिसका जीता जागता उदाहरण 55 देशों को मलेरिया की दवा देकर उन्होंने दिखाया है। मानवता धर्म को निभाते हुए पीएम मोदी किसी को भी दिक्कत न हो इसको लेकर लगातार काम कर रहे हैं। तभी देश और दुनिया का ऐतबार जीत रहे हैं।  

कुछ लोग कर रहे उनपर प्रहार  

हालाकि विश्व और देश की जनता मोदी जी के साथ खड़ी है लेकिन कुछ लोग इस प्रशंसा से दुखी होकर, घर का भेदी लंका ढ़ाने वाला काम करने में लग गये हैं। जिसके चलते ये कोरोनोविरों पर पत्थरबाजी करवा रहे हैं। फिर उन्हे निर्दोष या एक धर्म पर अत्याचार का नारा बुलंद करके सरकार के कामकाज पर सवाल खड़े कर रहे हैं। कुछ राज्य तो केंद्र की तारीफ न हो इसलिये अपने यहां पूरी ताकत से मदद नहीं पहुंचा रहे हैं जिससे मोदी सरकार का नाम खराब हो और जनता उनसे नराज हो, लेकिन ये ओछी सियासत करने वालों को आज जवाब जरूर मिल गया होगा कि जो काम करता है वो पूरे समाज में दिखता है जैसे मोदी जी का काम आज दिख रहा है। 

बहरहाल अभी भी वक्त है, ऐसे लोग जो सिर्फ ओछी सियासत में लगे हैं, वो सुधर जाएं वरना आने वाले वक्त में जनता उन्हें सुधार देगी।