मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक मे गमछे का मास्क लगाकर बैठे नरेन्द्र मोदी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

प्रधानमंत्री मोदी देश का नेतृत्व खुद एक उदाहरण बनकर करते हैं | अभी कोरोना के खिलाफ जागरूकता फ़ैलाने के इरादे से मोदी मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक मे अपने गमछे का मास्क बनाकर लगाये हुए दिखाई दिए | कोरोना के खिलाफ लड़ाई मे मोदी एक मिशाल के तौर पर उभर कर सामने आये हैं |

कोरोना से बचने के लिये मुँह व नाक ढंकना जरूरी है | कई सारे नेता व डॉक्टर भी इस बात को लेकर जागरूकता फैला रहे हैं | इसके लिए गमछा, कपड़ा, रुमाल कुछ भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

वाराणसी के लोगों से कही थी यह बात

गुरुवार को मोदी ने अपने निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी के विधायकों, जिलाध्‍यक्ष और महानगर अध्‍यक्ष से फोन पर लॉकडाउन स्थिति के बारे में जानकारी ली थी। इस दौरान उन्‍होंने कहा था, ‘आप लोग मास्‍क पर पैसा मत खर्च कीजिए। अपने यहां यूपी में गमछा लगाते हैं ना तो गमछा से मुंह बांधकर घर से बाहर निकलिए।’

इसी कारण से लोगों तक ये जागरूकता फ़ैलाने के लिये मोदी जी खुद भी मुँह पर गमछा बांधकर मीटिंग मे पहुंचे | मोदी जी की बात पूरा देश मानता है, उन्हें पता है अगर वो इस बात का पालन करेंगे तो पूरा देश उनके बताये रास्ते पर चलेगा |

लॉकडाउन पर अहम फैसला

देश में 14 अप्रैल के बाद भी लॉकडाउन रहेगा या नहीं, इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री ने आज सभी मुख्यमंत्रीयों के साथ बैठक की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना से हालात की समीक्षा के लिए राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों से जरूरी फीडबैक लिये, राज्यों मे कोरोंना के हालत का जायजा लिया और अब आगे लॉकडाउन पर फैसला लेंगे | 

अबतक 239 लोगों की मौत

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के चलते 239 लोगों की मौत हो गई है, जबकि कुल संक्रमित व्यक्तियों की संख्या बढ़कर 7447 तक पहुंच गई है। मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, वर्तमान में कोविड-19 संक्रमण से कुल 6,565 लोग संक्रमित हैं, जबकि महामारी के चलते अब तक कुल 239 व्यक्तियों की मौत हो गई है। एक मरीज के पलायन सहित उपचार के बाद 642 लोग पूर्ण रूप से स्वस्थ हो गए हैं, जिन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •