बंगाल चुनाव की तपिश बढ़ाने वाली मोदी जी की महारैली कल

बंगाल चुनाव का दंगल हर दिन के साथ रोचक होता जा रहा है। बड़े बड़े सियासी पंडित भी अभी ये पक्का नही बता पा रहे है कि ऊंट इस करवट बैठेगा। लेकिन ये तो है कि बीजेपी इस चुनाव को जीतने के लिये जोर-शोर से लगी हुई है। इसी क्रम में अब पार्टी अपने सबसे लोकप्रिय नेता और देश के लोकप्रिय प्रधानमंत्री मोदी जी को बंगाल में प्रचार के मैदान में उतारने जा रही है। वैसे मोदी जी चुनाव की तारीख आने से पहले यहां कई जन रैली कर चुके है जिसमें लाखो की संख्या में लोग पहुंचे थे।

बंगाल का सुपर संडे

पश्चिम बंगाल के ब्रिगेड परेड ग्राउंड में संडे को पीएम मोदी की एक महारैली की तैयारी पूरी कर ली गई है। कयास लगाया जा रहा है कि इस रैली को अबतक की सबसे बड़ी बनाने की तैयारी की गई है। इतिहास में जाये तो इस मैदान में इससे पहले 1978 में सबसे बड़ी रैली हुई थी। जिसमें 1 लाख से अधिक लोग आये थे। माना जा रहा है कि इस बार मोदी जी की रैली में ये रिकार्ड टूट सकता है। क्योकि मोदी जी की लोकप्रियता लगातार बंगाल चुनाव में बढ़ी है। इसका उदाहरण साल 2019 में हुआ लोकसभा चुनाव है जिसमें बंगाल की जनता का प्यार ही नही बल्कि सीटे भी मोदी जी को मिली थी जिससे माना जा रहा है कि मोदी जी का मैजिक इस बार बंगाल के जादू पर भारी पड़ने वाला है। इतना ही नहीं माना जा रहा है कल होने वाली रैली के बाद बंगाल का पूरा चुनावी समीकरण भी बदल सकता है। कुछ इशारा बीजेपी के नेता भी ये कर रहे हैं कि बंगाल के चुनाव में रूख बदलने वाला संडे जाना जायेगा।

बंगाल में 20 रैली करेंगे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद चुनाव प्रचार अभियान की बागडोर संभाले हुए हैं। जानकारो की मानें तो पीएम मोदी अकेले बंगाल में ही 20 रैलियां करेंगे। माना जा रहा है कि बंगाल में पीएम मोदी की काफी ज्यादा डिमांड हैऔ र हो भी क्यो न आखिर पीएम देश के ही नहीं बल्कि विश्व के सबसे ज्यादा लोकप्रिय नेता जो हैं।

वैसे पीएम मोदी खुद भी बोल चुके है कि पार्टी को जब जहां उनकी जरूरत महसूस होगी वो पार्टी की सेवा के लिये खड़े होगे। माना जा रहा है कि 7 मार्च की पीएम मोदी की रैली बंगाल के चुनावी इतिहास को बदलकर रख देगी।