मोदी जी अपनी रैली में सब पर रखते हैं नजर: रैली में बिगड़ी कार्यकर्ता की तबीयत, मोदी ने भिजवाया अपना डॉक्‍टर

मोदी विरोध में कुछ लोग इतना गिर गये है कि वो उन्हे हर दिन अपशब्द तो बोलते है। लेकिन हद तो तब हो गई तब कुछ लोग ये बोलते हुए दिखाई दिये की मोदी जी देखकर भाषण पढ़ते है और रैली में आये लोगों पर उनकी नजर नही होती है। लेकिन ऐसे सवाल उठाने वालो को आज जवाब मिल गया होगा जब पीएम ने भाषण देने के दौरान एक कार्यकता की तबियत खराब होने पर तुरंत पीएमओ (PMO) के अधिकारियों और डॉक्टर को उसे देखने भेजा।

मोदी जी ने कार्यकता की तबियत बिगडते देख पीएमओ टीम को मदद के लिए भेजा

शायद पहले ऐसा पीएम किसी ने नहीं देखा होगा जो देशवासियों या अपने कार्यकताओं का इतना ध्यान रखता हो। पीएम मोदी ने अपनी असम रैली के दौरान जब देखा की एक कार्यकर्त्ता की एकाएक तबियत बिगड़ने लगी तो उन्होने अपने भाषण को बीच में रोककर पीएमओ की मेडिकल टीम से पहले उसकी मदद करने के लिये बोला। उन्होने बोला कि वो तुरंत वर्कर के पास जाये और उसकी मदद करे। शायद पानी के अभाव में उसे कुछ तकलीफ हुई है। ये साफ बताता है कि पीएम मोदी अपनी रैली में आये सब लोगों पर नजर बनाये रहते है और कौन क्या कर रहा है इसपर भी उनका पूरा ध्यान रहता है। ऐसे में जो लोग उन्हे सिर्फ देखकर पढ़ने वाला नेता कहते है वो ये समझ ले कि मोदी जी जनता के बीच में तपकर इतने बड़े पद में आये है ऐसे में उनका ऐसे मजाक उड़ाने यानी की देश का मजाक उड़ाने के बराबर है।

 

इससे पहले भी कई बार कार्यकताओं की मोदी जी ने की है मदद

ऐसा नहीं है कि मोदी जी सिर्फ चुनावी रैली में इस तरह के कदम उठाते है, मोदी जी हमेशा ही अपनी पार्टी के कार्यकताओं का ध्यान रखते है फिर वो दूसरी सभा क्यो न हो।इससे पहले जब मोदी जी अटल टनल की शुरूआत करके हिमाचल में एक रैली में थे तभी उन्होने कार्यकता की तबियत खराब होने पर अपनी टीम को भेजकर उसका इलाज करने को बोला था। इसी तरह बिहार के वैशाली रैली के दौरान भी उन्होने पीएमओ की टीम के जरिये एक कार्यकता की हालत खराब होने पर देखभाल करने की बात कही थी। इतना ही नही पार्टी कार्यकता के साथ साथ मीडिया का भी वो विशेष ध्यान रखते है।

कर्नाटक में एक बांध की शुरूआत करते वक्त पीएम मोदी ने दूरदर्शन के कैमरा मैन को बचाने के लिये पीएमओ की टीम भेजी थी जब वो फोटो लेने के कारण बांध के पानी के संपर्क में आने वाला था। ये तो बात रही रैली की, मोदी जी ने लॉकडाउन के दौरान पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से भी फोन करके हालचाल जाना था और कोरोना से बचकर रहने की अपील भी की थी।

 

Leave a Reply