मोदी है तो मुमकिन है, चीन सेना ने अरूणाचल प्रदेश के लापता युवक को किया ‘मुक्त’

मोदी सरकार अपने देश के एक एक व्यक्ति को लेकर किस तरह चिंतित रहती है इसका प्रमाण एक बार फिर देखने को मिला जब अरुणाचल प्रदेश से लापता युवक को चीन से वतन वापस ले आया गया है जो एक तरफ मोदी सरकार की दमदार कूटनीति को दिखाता है तो दूसरी तरफ उन लोगों के लिए भी एक सबक है जो जरा जरा सी बात पर सरकार के कामकाज पर उंगली उठाने लगते हैं।

 

चीन ने अरुणाचल प्रदेश के युवक को लौटाया

चीनी सेना ने अरुणाचल प्रदेश न‍िवासी 17 वर्षीय म‍िरान तरोन को मुक्‍त कर द‍िया है। चीन  ने सभी प्रोटोकाल पूरा करने के बाद  म‍िरान तरोन को भारतीय सेना को सौंपा है। इसके बाद भारतीय सेना की तरफ म‍िराने तराने की मेडिकल जांच सहित अन्‍य उचित प्रक्रियाओं का पालन किया जा रहा है। अरुणाचल प्रदेश न‍िवासी म‍िरान तरोन 18 जनवरी को  लापता हो गए थे। इसके कुछ दिनों बाद चीन ने जानकारी देते हुए बताया था क‍ि मिराम उसके क्षेत्र में मिला है, जिसे वह लौटाएगा। हालांक‍ि कुछ र‍िपोर्टों में कहा गया था क‍ि चीनी सेना ने म‍िरान तरोन को अपनी हिरासत में लिया है। जिसके बाद अरुणाचली युवक म‍िरान तरोन के लापता होने और उसके चीन में होने की जानकारी सामने आने के बाद भारतीय सेना ने इस मामले में मोर्चा संभाला था। इस मामले में भारतीय सेना ने चीनी सेना के हॉटलाइन से संपर्क साधा था। ज‍िसके बाद चीनी सेना ने म‍िरान तराने को वापस भेजने की बात कहीं थी और आज उसे वतन वापस लौटा दिया गया है।

अरुणाचल से लापता युवक की वापसी पर किरेन रिजिजू बोले- चीन का जवाब आना बाकी -  Kiren Rijiju issues statement on the status of the missing Arunachal boy  found in chinese region

पाक ने विंग कमांडर अभिनंदन को भारत को लौटाया

ठीक इसी तरह पाकिस्तान ने भी विंग कमांडर अभिनंदन को भारत को लौटा दिया था जिससे ये साफ होता है कि भारत की कूटनीति आज पहले वाली नही है जब अगर कोई भारतीय घोखे से सीमा पार कर जाता था तो उसे वापस लाना मुमकिन नही हो पाता ता जैसे सबरजीत के साथ हुआ था। लेकिन अब दुनिया में भारत की वो धाक बन चुकी है कि अगर भारत के एक भी नागरिक को कोई खरोच आती है तो भारत उसका सटीक जवाब देता है जिसके कारण ही आज इस तरह की स्थिति बन रही है। जैसे कनाडा में अभी हाल में कुछ भारतीयों के हिमस्खलन के चलते मृत्यू होने पर वहां के राष्ट्रपति ने खुद भारत सरकार ने इस घटना के लिए दुख जता कर खेद व्यक्त किया था।

मतलब साफ है कि मोदी है तो मुमकिन है हर वो काम जो पहले नहीं हो पाता था शायद इसी लिये तो वो इस मुद्दो पर खूब सियासत करते है लेकिन जब सियासत उल्टी हो जाती है तो मुंह छुपाकर बैठ जाते है।