महंगाई के खिलाफ मोदी सरकार का जारी है एक्शन: पेट्रोल,डीजल के बाद खाद्य तेलों से घटाया टैक्स

इस बात से कोई इंकार नहीं कर सकता कि देश में महंगाई आज लोगों के लिए समस्या बनी हुई है। लेकिन इसके पीछे की खास वजह कोरोना के दो साल के प्रभाव भी है जिसे दूर करने के लिये मोदी सरकार तेजी के साथ कदम बढ़ा रही है। देशवासियों को फौरीतौर पर राहत देने के लिए एक तरफ ईधन पर सरकार ने एक्साइज ट्यूटी घटाती है तो दूसरी तरफ खाने के तेलो पर से भी टैक्स कम किया है जिससे आम लोगों की जेब का बोझ कम हो सके।

 

 

खाद्य तेलों पर भी कर टैक्स किया कम

त्योहारी सीजन में लोगों को राहत पहुंचाने के उद्देश्य से सरकार ने खाद्य तेलों के आयात पर ड्यूटी में कटौती की थी, इसका फायदा भी दिख रहा है जिससे खाने के तेलों के दामों में करीब 20 रूपये की गिरावट देखी जा रही है। केंद्र सरकार के खाद्य मंत्रालय की माने तो देश में खाद्य तेलों की क्वालिटी में अब सुधार हुआ है और भाव बढ़ने जैसी दिक्कत धीरे धीरे कम हो रही हैं। सरकार की माने तो  देश में खाद्य तेलों की उपलब्धता बढ़ने की वजह से भी इनके भाव में नरमी दर्ज की जा रही है। गौरतलब है कि कि दुनिया भर में कमोडिटी की कीमतें बढ़ रही है और इस वजह से भारत में भी खाद्य तेलों के भाव में इजाफा दर्ज किया गया था। वास्तव में इंडोनेशिया, ब्राजील और अन्य देशों में बायोफ्यूल के बढ़ते इस्तेमाल की वजह से खाद्य तेलों की उपलब्धता पर असर पड़ा था। अब दुनियाभर में खाद्य तेल के भाव में कमजोरी दर्ज की जा रही है और यह ट्रेंड आने वाले समय में भी जारी रहने की उम्मीद है। हालांकि सरकार का कहना है कि वो हर स्थिति से निपटने के लिये नजर बनाये हुए है तो देश में तेल के दाम तेजी से नीचे आये इसके लिये भी काम करने लगे हुए हैं।

 

पेट्रोल डीजल पर टैक्स घटाकर मोदी सरकार ने दी राहत

नरेंद्र मोदी सरकार ने दिवाली से पहले आम लोगों को राहत देते हुए पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में प्रति लीटर 5 व 10 रुपए की कटौती की है जिसके बाद पेट्रोल 5 और डीजल 10 रुपए प्रति लीटर सस्ता हो गया है जिससे आम लोगों को बड़ी रहात दी है। हालंकि जानकारों की माने तो विदेशी बाजार के चलते पेट्रोल के दाम मार्च तक बढ़ते रहने की संभावना है जबकि इसके बाद दाम कम और होने के आसार है। इस बीच मोदी सरकार के बाद कई बीजेपी राज्य सरकारों ने भी वैट में कमी की है जिससे पेट्रोल के दामों कमी हो गई है। लेकिन उन राज्यों ने अभी भी वैट नहीं हटाया जो महंगाई पर हल्ला तो बहुत मचाते है लेकिन फौरी राहत देने में हमेशा पीछे रहते है और जनता के साथ सिर्फ सियासी खेल खेलते रहते है।

 

देश में महंगाई की मार से जनता रूबरू ना हो इसके लिये मोदी सरकार ने खाका खीच लिया है और तुरंत राहत मिलने वाले कदम भी उठा दिये है जो देशवासियों को दिख रहे है। जबकि कुछ लोग महंगाई को सिर्फ मुद्दा बनाकर सियासत चमकाने के लिये लगे है और अपनी तरफ से आम लोगों को कोई राहत ना देकर सिर्फ मोदी सरकार के खिलाफ भड़काने में लगे है जिसे जनता भी समझ चुकी है।