मोदी सरकार और RBI की सूझ-बुझ से वापस लौटे लंदन भाग चुके राणा कपूर

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अपराधी को खुद पता होता है कि कब कानून का शिकंजा उसके ऊपर कसने वाला है| ऐसे में वो खुद को बचाने की हरसंभव कोशिश करता है| यस बैंक के पूर्व चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर राणा कपूर ने भी ऐसा ही किया था और RBI के आदेश के बाद यस बैंक के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर का पद छोड़ने के बाद ही वो लंदन भाग चुके थे| लेकिन मोदी सरकार की तत्परता और RBI की सूझ-बुझ के चलते बनाये गए प्लान से उन्हें लालच में भारत वापस लौटना पड़ा|

कैसे लंदन से वापस भारत लौटे राणा कपूर?

अपने कुकर्मों का फल भुगतने के दर से लंदन भाग चुके राणा कपूर आखिर भारत कैसे वापस आ गए? दरअसल मोदी सरकार और RBI ने इसके लिए पूरा प्लान तैयार किया था| प्रसिद्ध अंग्रेजी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार मोदी सरकार ने राणा कपूर के हटने के बाद से ही यस बैंक को बचाने का प्लान तैयार किया हुआ था|

सरकार चाहती थी कि जनता का भरोसा यस बैंक पर बना रहे, और इसके लिए सरकार और आरबीआई ने नए निवेशकों की तलाश शुरू कर दी थी| द टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार पिछले आठ महीनों में आरबीआई की तीन अलग-अलग निवेशकों से बात हुई, लेकिन किसी न किसी कारण डील ही नहीं पायी| सूत्रों के अनुसार खुद राणा कपूर निवेशकों को भड़का रहे थे| कपूर की मंशा थी कि फिर से उनकी बैंक में वापसी हो| लेकिन लंदन में बैठे राणा कपूर के हर कदम पर सरकार की नजर थी|

इसके बाद मोदी सरकार ने राणा को भारत वापस लाने के लिए प्लान तैयार किया| सूत्रों के अनुसार ऐसे में सरकार ने राणा कपूर को लालच दिया और कहा कि बैंक के लिए कोई नया निवेशक नहीं मिल रहा है| ऐसे में वह चाहे तो भारत वापस आकर एक बार फिर से बैंक की कमान ले सकते हैं| इसी लालच में राणा कपूर वापस लौटे, लेकिन उनके भारत वापस आते ही सारी एजेंसियों ने उन्हें घेरने का पूरा प्लान तैयार कर रखा था और ये सुनिश्चित किया गया था कि वो भारत से दोबारा भाग न सके|

फिर से भागने की मंशा पर सरकार की मुस्तैदी ने फेरा पानी

राणा कपूर ने सरकार की मंशा भांपते ही वापस भागने का प्लान कर लिया था| लेकिन सरकार, RBI और जाँच एजेंसियों की मुस्तैदी कपूर की मंशा पर पानी फेर दिया| सरकार ने यस बैंक को फिर से खड़ा करने का ऐलान करते ही राणा कपूर को गिरफ्तार कर लिया| रिपोर्ट में कहा गया है कि मुंबई के जिस पॉश बिल्डिंग में कपूर रहते थे वहां के गार्ड ने राणा कपूर के फिर से भागने के प्लान की जानकारी जांच एजेंसियों को दी थी, और कोई चूक न करते हुए कपूर को सही समय पर घेर लिया गया|


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •