ब्लैक फंगस  को लेकर ऐक्शन में मोदी सरकार

देश में ब्लैक फंगस  की बढ़ती बीमारी और उससे जुड़ी दवा की कमी  को देखते हुए केंद्र सरकार हरकत में आ गई है। सरकार ने इस बीमारी से निपटने के लिए  कई बड़े कदम उठाने की बात कही है तो दूसरी तरफ पीएम मोदी ने बनारास के डॉक्टरो के साथ बात करते वक्त इस बीमारी से निपटने के लिए ज्यादा सजग रहने की अपील भी की है।

 

पीएम ने की ब्लैक फंगस से सावधान रहने की अपील

बनारास के डाक्टरो से बात करते हुए पीएम मोदी ने  ब्लैक फंगस   को लेकर सजग और जागरूक रहने की अपील डॉक्टरो से की, साथ ही उन्होने कहा कि आपदा के इस वक्त में हमें एक नये मंत्र के साथ काम करना होगा और वो मंत्र है “जहां बीमार, वहीं उपचार” इसके अलावा उन्होंने ‘ब्लैक फंगस को कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में नई चुनौती बताया और कहा कि इससे निपटने के लिए जरूरी सावधानी और व्यवस्था पर ध्यान देना जरूरी है। एक बार फिर वैक्सीन लगवाने की अपील करते हुए उन्होंने कहा, “वैक्सीन की सुरक्षा के कारण काफी हद तक हमारे फ्रंटलाइन वर्कर्स सुरक्षित रहकर लोगों की सेवा कर पाए हैं। यही सुरक्षा कवच आने वाले समय में हर व्यक्ति तक पहुंचेगा। हमें अपनी बारी आने पर वैक्सीन जरूर लगवानी है।” जिससे इस आपदा से निकला जा सके। हालांकि इस मौके पर परिवार के मुखिया की तरह पीएम मोदी उन लोगो को याद करके भावुक भी हुए जो कोरोना के चलते आज हम सबके बीच नही है।

ब्लैक फंगस  को लेकर सरकार हुई ज्यादा सजग

केंद्र सरकार ने देश में कोरोना महामारी  के साथ ही बढ़ रही ब्लैक फंगस  की दवाई बनाने के लिए 5 और नई कंपनियों को लाइसेंस जारी किया है । देश में अब तक 5 कंपनियां Amphotericin B टीके का उत्पादन कर रही थीं। अब और कंपनिया भी इसका उत्पादन कर सकते है जिससे देश में दवाई और वैक्सीन की कमी न हो। जानकारी के मुताबिक देश की पुरानी 5 कंपनियां ने मई में 1 लाख 63 हजार 752 vials का उत्पादन किया. इस क्षमता को जून में बढ़ाकर 2 लाख 55 हजार 114 करने की योजना है। देश में मई में 3 लाख 63 हजार vials आयात किया गया। अब जून में 3 लाख 15 हजार vials आयात किए जाएंगे। ऐसे में जून में देश में कुल 5 लाख 70 हजार 114 टीके (Vials) उपलब्ध होंगे। इस तरह देश में दवाई की कोई कमी नही होगी वही देशवासियों से भी सरकार ने आवाहन किया है कि वो अपवाह में ना फंसे देश में दवाई की कोई कमी नही है। इसके साथ साथ कालाबाजारी करने वालो पर भी सरकार ने नकेल कसने की तैयारी कर ली है, राज्यो को ऐसे कालाबाजारी करने वाले लोगो पर सख्त कार्यवाही करने की हिदायद दी गई है।

ब्लैक फंगस के बढ़ते मामले को देखते हुए केंद्र सरकार ने अभी से ठोस नीति पर काम करना शुरू कर दिया है वही राज्यों को भी खत लिखकर साफ कर दिया है कि वो इस बीमारी को लेकर कोताही बिलकुल ना बरते ।जिससे इस आपदा पर लगाम लगाया जा सके।