देश को कोरोना वायरस से महफूज रखने के लिए मोदी सरकार का बड़ा फैसला

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विश्व के कई देश कोरोनावायरस को एक महामारी के तौर पर घोषित कर चुके हैं| ऐसे में भारत जैसे विश्व की दूसरी सबसे बड़ी जनसँख्या वाले देश को कोरोनावायरस के संक्रमण को घातक रूप से फैलने से बचाने के लिए मोदी सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है|

अगले एक महीने तक पूरी दुनिया से अलग-थलग रहेगा भारत

मोदी सरकार के फैसले के अनुसार भारत अगले एक महीने तक पूरी दुनिया से खुद को अलग-थलग कर लेगा। इस फैसले का मकसद मैन टू मैन कॉन्टैक्ट के द्वारा फैल रहे कोरोनावायरस को और फैलने से रोकना है। भारत सरकार के फैसले के कुछ देर बाद ही विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organisation ) ने भी कोरोना वायरस (Covid-19) को एक महामारी घोषित कर दिया।

स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन की अध्यक्षता में हुए मंत्रियों की बैठक में ये फैसला लिया गया| इसके बाद सरकार ने ट्रैवल एडवाइजरी जारी कर दी। ये सारे फैसले आज आधी रात से लागू हो जायेंगे।

क्या पाबंदियां हैं मोदी सरकार के फैसले में?

भारत सरकार द्वारा लिए गए फैसले के अनुसार दुनिया के किसी भी देश से आने वाले लोगों का वीजा 15 अप्रैल तक सस्पेंड कर दिया है। हालांकि संयुक्त राष्ट्र से जुड़े कर्मचारियों, कूटनीतिक मामलों और सरकारी प्रॉजेक्ट से जुड़े अहम अधिकारियों को इस पाबन्दी से अलग रखा गया है। ओवरसीज सिटिजन्स ऑफ इंडिया (ओसीआई) कार्ड धारकों को मिल रही सुविधा भी 15 अप्रैल तक खत्म कर दी गई है। आपात स्थिति में भारतीय मिशन से विशेष अनुमति लेकर भारत की यात्रा की जा सकती है।

कोरोनावायरस के संक्रमण से बुरी तरह से प्रभावित देशों जैसे चीन, इटली, ईरान, साउथ कोरिया, फ्रांस, स्पेन और जर्मनी से सीधे या 15 फरवरी के बाद भारत आने वाले यात्रियों को कम से कम 14 दिनों तक अलग-थलग रखा जाएगा। ऐसा एहतियात के तौर पर इसलिए किया जा रहा है ताकि कोरोनावायरस से संक्रमित संदिग्ध व्यक्तियों से संक्रमण और ज्यादा न फैले|

विदेशी हवाई यातायात पर खासा असर

एयर इंडिया ने रोम, मिलान और सिओल के लिए अपनी उड़ानें अस्थाई रूप से बंद कर दी है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार रोम (इटली) के लिए सेवाएं 15 से 25 मार्च तक बंद रहेंगी। वहीं मिलान (इटली) और साउथ कोरिया की राजधानी के लिए उड़ानें 14 से 28 मार्च तक निलंबित रहेंगी।

कोरोनावायरस पुरे विश्व में एक महामारी की तरह फ़ैल चूका है| अब तक पुरे विश्व में सौ से भी अधिक देशों में कोरोनावायरस से ग्रसित मामले मिल चुके हैं| आखिरी रिपोर्ट के मुताबिक हमारे देश भारत में भी करीब 73 लोग कोरोनावायरस से संक्रमित हो चुके हैं और आज ही के दिन कर्नाटक में कोरोनावायरस के संक्रमण से पहली मौत भी हुई है|


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •