पहले दिन से फुल स्पीड में मोदी सरकार 2.0 , एक साल में छुए कई मुकाम

23 मई 2019 वो दिन जिस दिन भारत के सियासी इतिहास में एक नई इबारत लिखी गई वो इबारत जो अमिट है वो इबारत जो देश के 130 करोड़ भारतीयों ने लिखी थी क्योंकि आज के ही दिन देश की जनता ने दोबारा से पीएम मोदी पर विश्वास जताया था और पहले से ज्यादा सीटो से जीत दिलाकर नये भारत के सपने को सकार करने की नींव डाली थी। जिसपर एक साल के भीतर बुलंद भारत के निर्माण को साफ देखा जा सकता है। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले साल में देश में क्या क्या बदलाव हुए है चलिये उसपर नजर डालते हैं।

कश्मीर से कन्याकुमारी तक एक ध्वज

मोदी 2.0 की शुरूआत फुल स्पीड में हुई, देशवासी जिस अखंड भारत का सपना 70 साल से संजोय हुए थे उसको मोदी सरकार ने दोबारा सत्ता में आते ही पूरा करके दिखा दिया। यानी कश्मीर से धारा 370 को हटा दिया गया। और समूचे भारत में एक ध्वज फैहराने लगा। सबसे बड़ी बात ये है कि सरकार के इस फैसले पर देश विदेश से मोदी सरकार को समर्थन मिला और ये सिध्द हो गया कि कश्मीर भारत का खास हिस्सा है। जिसे कुछ नियम लगाकर अलग नही रखा जायेगा।

तीन तलाक का नासूर किया खत्म

तीन तलाक जिसे कई मुस्लिम राष्ट्र भी ठीक नही समझते थे औऱ इसे खत्म कर चुके थे लेकिन तीन तलाक की बेड़ियों में जकड़ी मुस्लिम महिलाओं के दर्द को मोदी सरकार ने ही समझा और इस कानून को खत्म करके इन महिलाओं को भी आसमान में खुले में उड़ने की आजादी दी। सरकार के इस फैसले से मुस्लिम महिलाओं में एक अलग सी आत्मबल देखने को मिली, जो आज उनकी उन्नति का कारण बन रही है।

आत्मनिर्भर भारत बनाने की नींव पड़ी

वैसे तो सरकार ने कामकाज संभालते ही देश की आर्थिक व्यवस्था को 5 ट्रिलियन बनाने के लिये प्रयास शुरूकर दिये थे। लेकिन कोरोना संकट के चलते इसकी स्पीड थोड़ी थमने लगी तभी एक बार फिर से कुशल नेतृत्व करते हुए मोदी सरकार ने देश को बचाने के लिये 20 लाख करोड़ रूपये का महापैकेज जारी किया। सबसे बड़ी बात ये है कि इस पैकेज के जरिये सरकार ने देश को आत्मनिर्भर बनाने का मंत्र भी दिया। जिसका असर आने वाले दिनो में दिखने भी लगेगा उदाहरण के तौर पर पीपीई किट का सफर ये बताता है कि भारत अब रुकने वाला नही।

सशक्त भारत की छवि दुनिया में उभरी

पिछले 6 सालों में भारत की छवि एक शक्तिशाली देश के तौर पर उभरी है। जिसका श्रेय सिर्फ मोदी जी को जाता है। जिन्होने  देश की ऐसी छवि विदेश में पेश की कि आज दुनिया भारत को सम्मान तो दे रहा है बल्कि भारत की तारीफ में कसीदे पढ़ रहा है। उदाहरण के तौर पर कोरोना संकट के वक्त विश्व को एक साथ मिलकर इस बीमारी से कैसे निपटा जाये इसका खाका आज भारत तय कर रहा है जिसे विश्व मान रहा है। सऊदी अरब से लेकर यूएई सहित तमाम इस्लामिक देशों ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित भी किया है। इसके अलावा इस्लामिक देशों के साथ भारत के संबंध भी मजबूत हुए हैं, जिसका नतीजा है कि कश्मीर मसले पर दुनिया भर के देशों ने भारत का साथ दिया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर संयुक्त राष्ट्र ने प्रतिवर्ष 21 जून को विश्व योग दिवस के रूप में मनाने की स्वीकृति दी, इससे दुनिया भर में भारत का सम्मान बढ़ा है।

 

इसके साथ साथ परिवहन नियमो में बदलाव हो या फिर नागरिकता संशोधन बिल हो या फिर सवर्ण आरक्षण सरकार में अटकाने, भटकाने और लटकाने का फार्मूला अब खत्म हो गया है। यकीन नही होता ये वो भारत है जहां कभी एक नियम में परिवर्तन के लिये सालों लगा करते थे लेकिन अब ऐसा नही है। जो ठीक है उसे तुरंत अमल में लया जा रहा है। जिसका नतीजा है कि कोर्ट के राममंदिर निर्माण के फैसले के बाद तुरंत ही राम मंदिर बनने की शुरूआत हो गई है। और जल्द ही ये मंदिर विश्व में एक नया इतिहास लिखेगा। वैसे तो साल कम गुजर गया किसी को पता ही नही चला लेकिन हां मोदी सरकार के कामकाज की फेहरिस्त इतनी लंबी है कि अगर साल भर देशहित में हुए कामो पर हम प्रकाश डाले तो शायद दूसरा साल आ जाये लेकिन कहते है न कि सत्य छुपता नही अपने आप दिखता है। कुछ सरकार का काम भी ऐसा ही है कि उसे किसी को बताने की जरूरत नही है क्योंकि देश की हर जनता को इसके बारे में पता है। लेकिन चलते चलते बस ये बता दूं की पहले साल से ही मोदी सरकार तेज रफ़्तार में  काम करने में लगी है। ऐसे में दूसरा साल पूरा होने में देश विकास की कौन सी गाथा लिखेगा ये आप खुद समझ सकते हैं।