कोरोना से निपटने को मोदी का मास्टरस्ट्रोक – सार्क राष्ट्र प्रमुखों से बातचीत का प्रस्ताव

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

दुनियाभर मे सौ से भी ज्यादा देशों मे लगभग डेढ लाख लोगों को प्रभावित करनेवाले कोरोनावायरस से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सार्क देशों से एक साथ आने का आह्वान किया है। प्रधानमंत्री ने अपनी शानदार विदेश नीति का प्रदर्शन करते हुए दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (SAARC) देशों के प्रमुखों के सामने विडियो चैट से बातचीत का प्रस्ताव रखा है| गौरतलब है कि दुनियाभर मे अब तक लगभग 5500 लोगों की मौत इस वायरस की वजह से हो चुकी है|

पीएम मोदी का बड़ा प्रस्ताव

पीएम मोदी ने, SAARC में शामिल देशों से आह्वान किया है कि सभी 8 राष्ट्राध्यक्ष विडियो कॉन्फ्रेसिंग से जुड़कर कोरोना के खिलाफ साझी लड़ाई पर चर्चा करें। SAARC में भारत के अलावा पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, मालदीव, श्रीलंका और नेपाल शामिल हैं।

‘कोरोना पर कर रहे हैं पूरा प्रयास’

उन्होंने दुनियाभर में फैलते कोरोना वायरस के संक्रमण पर चिंता जाहिर करते हुए इस चुनौती से निपटने की दिशा में सरकारों एवं संगठनों के सम्मिलित प्रयासों की सराहना की। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘हमारी दुनिया कोविड- 19 नोवेल कोरोना वायरस से लड़ रही है। सरकार और लोग विभिन्न स्तर पर इससे लड़ने का सर्वोत्तम प्रयास कर रहे हैं।’

पाकिस्तान करेगा विडियो चैट

गौरतलब है कि 2 जनवरी, 2016 को सेना के पठानकोट कैंप पर पाकिस्तानी आतंकवादियों के हमले के बाद से मोदी सरकार ने कई मोर्चों पर पाकिस्तान से रिश्ते तोड़ लिए। प्रधानमंत्री मोदी के कड़े रुख के कारण तब से पाकिस्तान के साथ उच्चस्तरीय बातचीत बिल्कुल बंद है। विभिन्न अंतरराष्ट्रीय मंचों पर एक साथ पहुंचने के बावजूद उन्होंने अपने पाकिस्तानी समकक्ष इमरान खान से कभी बातचीत नहीं की। हालांकि, संकट के वक्त उन्होंने सारी कड़वाहट भुलाकर पाकिस्तान की तरफ भी हाथ बढ़ाया है।

पाकिस्तान ने मोदी के प्रस्ताव पर सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है और कहा है कि वह कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लेने के लिए तैयार है। उसने माना कि घातक कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न खतरे को कम करने के लिए समन्वित प्रयासों की जरूरत है।

पाकिस्तान विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता आयशा सिद्दीकी ने शुक्रवार को एक ट्वीट में कहा, ‘हमने बता दिया है कि स्वास्थ्य पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के विशेष सहायक जफर मिर्जा मुद्दे पर दक्षेस सदस्य देशों की वीडियो कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लेने के लिए उपलब्ध रहेंगे।’ वायरस के खिलाफ पाकिस्तान के अभियान की अगुवाई मिर्जा कर रहे हैं।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •