मोदी कैबिनेट का अहम फैसाला: 1 मार्च से आम लोगों का होगा टीकाकरण

टीकाकरण के मामले में भारत तेजी के साथ आगे बढ़ रहा है तभी मोदी कैबिनेट ने एक बड़ा फैसला किया है जिसके तहत अब देश में टीकाकरण का दूसरा चरण 1 मार्च से शुरू होगा जिसमें 60 साल से अधिक उम्र के लोगों के साथ 45 साल से ऊपर उम्र वाले वे लोग भी शामिल होंगे जिन्हे कोई बीमारी है।

10 हजार सरकारी केद्रों में लगेगी वैक्सीन

कोरोना टीकाकरण अभियान का दूसरा चरण 1 मार्च से शुरू होगा। इसमें 60 साल से ज्‍यादा उम्र वालों को वैक्‍सीन दी जाएगी। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इस बाबत बताया कि 10 हजार सरकारी केंद्रों में मुफ्त तो 20 हजार निजी केंद्रों में पैसा देकर टीकाकरण किया जायेगा। इसके साथ साथ सरकार की माने तो करीब 10 करोड़ से ज्यादा है। टीकाकरण के दूसरे चरण में 45 साल से ऊपर उम्र वाले वे लोग भी शामिल होंगे जिन्‍हें को-मॉर्बिडिटीज हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा, “सरकारी अस्‍पतालों में टीका मुफ्त लगेगा और प्राइवेट में वैक्‍सीन लेने वालों को कुछ शुल्‍क देना होगा। वो शुल्‍क कितना होगा, स्‍वास्‍थ्‍य विभाग दो-तीन दिन में उसके बारे में घोषणा करेगा। अभी सभी संबंधित उत्‍पादकों, अस्‍पतालों से चर्चा की जाएगी।”

सेल्‍फ रजिस्‍ट्रेशन की छूट दे सकती है सरकार

भारत में 60 साल से ज्‍यादा उम्र वालों और को-मॉर्बिडिटीज से जूझ रहे लोगों को वैक्‍सीन के लिए सेल्‍फ रजिस्‍टर करने की अनुमति मिल सकती है। ये लोग उस जगह का चुनाव भी कर पाएंगे जहां इन्‍हें टीका लगवाना है। इसके लिए मोबाइल ऐप में बदलाव किए गए हैं। पहले 50 से ज्‍यादा उम्र वालों को रजिस्‍टर करने की अनुमति देने की बात थी लेकिन फिर इसे बढ़ाकर 60 साल कर दिया गया क्‍योंकि उन्‍हें ज्‍यादा रिस्‍क है। वैक्‍सीनेशन का सर्टिफिकेट Co-WIN और डिजिलॉकर जैसे सरकारी प्‍लेटफॉर्म्‍स पर उपलब्‍ध होगा।

महज 33 दिनों में 1 करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन लगाने के बाद अब दूसरे चरण की शुरूआत ये बता रही है कि कोरोना को लेकर मोदी सरकार कितनी तेजी से काम करने में जुटी है और सबसे अहम बात ये है कि सरकार देश के लोगों का ध्यान रखने के साथ साथ विदेश के लोगों की भी मदद करने में लगी हुई है।