प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का देश संबोधन : हाईलाइट्स

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मंगलवार को देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बड़ा फैसला लिया है और पूरे देश में लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है। उन्होंने कहा कि अगले 21 दिनो तक अपने घरों से बाहर निकलना भूल जाइए | अगर हमे कोरोना को हराना है तो हम सबको अपने-अपने घरों मे बंद रहना होगा | इन 21 दिनो तक अगर हम अपने घरों से बाहर निकले तो देश 21 साल पीछे चला जायेगा | 

कोरोना से जंग में 15 हजार करोड़ रुपये का ऐलान

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी से बनी स्थितियों के बीच केंद्र और देशभर की राज्य सरकारें तेजी से काम कर रही है। रोजमर्रा की जिंदगी में लोगों को असुविधा न हो इसके लिए निरंतर कोशिश कर रही हैं।  अब कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए देश के हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को और मजबूत बनाने के लिए केंद्र सरकार ने आज 15 हजार करोड़ रुपए के ऐलान का प्रावधान किया है।

धैर्य और अनुशासन की घड़ी है- पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि भारत आज उस स्टेज पर है जहां हमारे आज के एक्शन तय करेंगे कि इस बड़ी आपदा के प्रभाव को हम कितना कम कर सकते हैं। ये समय हमारे संकल्प को बार-बार मजबूत करने का है। उन्होंने कहा कि साथियों ये धैर्य और अनुशासन की घड़ी है। जब तक देश में लॉकडाउन की स्थिति है, हमें अपना संकल्प निभाना है, अपना वचन निभाना है।

हमारे सामने एक ही मार्ग- घरों से बाहर नहीं निकलना

पीएम मोदी ने कहा कि साथियों, यही वजह है कि चीन,अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, स्पेन, इटली-ईरान जैसे देशों में जब कोरोना वायरस ने फैलना शुरू किया, तो हालात बेकाबू हो गए। उपाय क्या है, विकल्प क्या है? साथियों कोरोना से निपटने के लिए उम्मीद की किरण उन देशों से मिले अनुभव हैं जो कोरोना को कुछ हद तक नियंत्रित कर पाए। हमें भी ये मानकर चलना चाहिए कि हमारे सामने यही एक मार्ग है- हमें घर से बाहर नहीं निकलना है। चाहे जो हो जाए, घर में ही रहना है।

भयावह है कोरोना वायरस- पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि आपको ये याद रखना है कि कई बार कोरोना से संक्रमित व्यक्ति शुरुआत में बिल्कुल स्वस्थ लगता है वो संक्रमित है इसका पता ही नहीं चलता। इसलिए ऐहतियात बरतिए और अपने घरों में रहिए। सोचिए पहले एक लाख लोग संक्रमित होने में 67 दिन लगे और फिर इसे 2 लाख लोगों तक पहुंचने में सिर्फ 11 दिन लगे। ये और भी भयावह है कि दो लाख संक्रमित लोगों से तीन लाख लोगों तक ये बीमारी पहुंचने में सिर्फ चार दिन लगे।

लॉकडाउन ने आपके घर के दरवाजे पर एक लक्ष्मण रेखा खींच दी- पीएम मोदी  

पीएम मोदी ने कहा कि आने वाले 21 दिन हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो कोरोना वायरस की संक्रमण साइकिल तोड़ने के लिए कम से कम 21 दिन का समय बहुत अहम है। घर में रहें, घर में रहें और एक ही काम करें कि अपने घर में रहें। साथियों, आज के फैसले ने देशव्यापी लॉकडाउन ने आपके घर के दरवाजे पर एक लक्ष्मण रेखा खींच दी है।   


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •