वायरल वीडियो – कुल्हाड़ी लेकर सड़क पर गिरा पेड़ क्यों काटने लगे मिजोरम के डिप्टी स्पीकर?

मिजोरम के डिप्टी स्पीकर का एक वीडियो सोशल साइट्स पर वायरल हो रहा है। इसमें वह हाथ में कुल्हाड़ी लेकर एक पेड़ काटते हुए दिख रहे हैं। इस वीडियो पर लोग कमेंट कर रहे हैं और लालरिनावमा की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

ऐसा ही एक विज्ञापन कुछ साल पहले टीवी पे आया था जिसमे दिखाया गया था रास्ते में एक पेड़ गिर गया है, बारिश हो रही है और इसकी वजह से ट्रैफिक जाम हो गया है.. लोग परेशान हैं। नेताजी भी मौके पर मौजूद रास्ता खुलने का इंतजार कर रहे है। इसी बीच एक स्कूल का बच्चा आता है और अकेले ही पेड़ को हटाने की कोशिश करने लगता है। उसके साथ और बच्चे जुड़ जाते हैं। फिर धीरे-धीरे लोग भी जुड़ जाते हैं और पेड़ को रास्ते से हटा देते हैं।

45 साल के लालरिनावमा तुइकम से दो बार के विधायक हैं और अपने क्षेत्र के दौरें पर थे। इस दौरान उन्होंने देखा कि एक पेड़ टूट कर सड़क पर गिर गया है, जिससे पूरा रोड जाम हो गया है। लोग देखते रहे, लेकिन किसी ने मदद नहीं की। तभी लालरिनावमा कुल्हाड़ी लेकर कार से निकले और रोड पर गिरे पेड़ को काटकर रास्ता साफ कर दिया। किसी ने उनका वीडियो बनाया, जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर लोग डिप्टी स्पीकर को एक्स-मैन कह रहे हैं।

स्टीफन ओहमन नामक ट्विटर अकाउंट से यह वीडियो शेयर किया गया। ट्वीट में लिखा, ‘‘मिजोरम के डिप्टी स्पीकर मिस्टर लालरिनावमा एक्समैन हैं। उन्होंने इस तरह गांव के रोड पर गिरे पेड़ को हटाया। उन्होंने बताया कौन हैं हम। ये है मिजो के जीने की शैली।’’

45 साल के मैकेनिकल इंजीनियर लालरिनावमा जो वर्तमान में मिजोरम के डिप्टी स्पीकर हैं का वायरल विडियो देख कर ट्विटर पर एक दुसरे यूजर ने जवाब देते हुए लिखा, हम भी मिजो की इस जीवन शैली से प्रभावित हुए हैं। देश के दूसरे राज्यों को भी इनसे सीख लेनी चाहिए।

लालरिनावमा विनम्र स्वभाव के लिए जाने जाते है। वह एक सामान्य जीवन जीते हैं। कई बार अमेरिका के राष्ट्रपति होने के बाद बराक ओबामा को लाइन में खड़े होकर बर्गर लेते हुए देखा गया है जिसके बाद हमारे मुंह से उनके लिए अपने आप तारीफ निकल जाती है। भारत में इसका उदाहरण प्रधानमंत्री मोदी खुद है, जिनके सादगी के बहुत सारे किस्से हमसब ने सुने है।

प्रधानमंत्री मोदी के मंत्रिमंडल में हाल ही शामिल मंत्री प्रताप सिंह सडंगी अपने सादगी के लिए ही जाने जाते है।