अनंतनाग में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए मेजर केतन शर्मा

Maj_Ketan_Sharma

जम्मू और कश्मीर के अनंतनाग में आतंकवादियों के साथ सक्रिय मुठभेड़ में सेना के मेजर केतन शर्मा कल शहीद हो गए| मेरठ के रहने वाले मेजर केतन शर्मा 2012 में भारतीय सेना में शामिल हुए और फिलहाल वो कश्मीर में 19 राष्ट्रीय राइफल्स का हिस्सा थे|

मुठभेड़ के दौरान शहीद, दो आतंकियों को मार गिराया

अनंतनाग में कल खुफिया सूत्रों से मिली जानकारी पर मेजर शर्मा अपनी टीम के साथ सर्च ऑपरेशन में गए थे| उन्होंने दो आतंकवादियों को मार गिराया लेकिन मुठभेड़ के दौरान ही एक गोली झाड़ियों के पीछे से आकर उनके सर में लगी और मेजर केतन को देश से छीन लिया|

मेजर का पार्थिव शरीर आज सेना के स्पेशल विमान से मेरठ पहुंचा| रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सेना प्रमुख विपिन रावत शहीद मेजर को श्रध्धांजलि अर्पित करेंगे|

परिवार के एकलौते बेटे, पीछे छोड़ गए पत्नी और एक बेटी

Major Ketan Sharma, martyr in an encounter with militants in Anantnag

मेजर केतन शर्मा अपनी पिता की एकलौती संतान थे| परिवार में उनके माता-पिता के अलावा उनकी पत्नी इरा शर्मा और चार साल की बेटी काईरा है| मेजर शर्मा अभी अपनी छुट्टियाँ बिताकर 27 मई को ही वापस कश्मीर लौटे थे| एकलौते बेटे को खोने के बाद पूरा परिवार शोक में डूबा हुआ है|

देश सेवा के जज्बे से हुए थे सेना में शामिल

मेजर केतन शर्मा देश सेवा के जज्बे से ही सेना में शामिल हुए थे| पहले उन्होंने NDA की प्रवेश परीक्षा द्वारा सेना में प्रवेश की कोशिश की लेकिन साक्षात्कार में सफल नहीं हो पाए| लेकिन देश को अपनी सेवा देने के अपने जज्बे को कायम रखते हुए उन्होंने ग्रेजुएशन करने के बाद फिर से प्रयास किया और CDS की परीक्षा में उत्तीर्ण होकर ऊन्होने IMA देहरादून ज्वाइन किया| ऐसे जीवट व्यक्तित्व वाले ऑफिसर की कमी भारतीय सेना को हमेशा खलेगी|

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने 25 लाख रूपये की सहायता राशि की घोषणा की

उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद केतन शर्मा के परिवार को 25 लाख रूपये की सहायता राशि देने की घोषणा की है| परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी तथा उनके नाम पर एक सड़क का नामकरण करने की भी घोषणा मुख्यमंत्री ने की|