मणिपुर में असंभव को भी संभव कर दिखाया : पीएम मोदी

पीएम मोदी यूपी में हो या पंजाब में हर जगह उनका स्वागत वहां कि जनता दिल खोलकर करती है। मणिपुर के हेगांग में भी ये देखने को मिला जब सड़क किनारे पीएम मोदी का इतंजार करते हुए लोग देखे गये। पीएम मोदी ने भी लोगों को निराश नही किया और रुककर उन लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। इस बीच उन्होने बताया कि कैसे उन्होने नार्थ ईस्ट में विकास का सूरज उगाया है।

हमारी मेहनत ने 25 सालों की ठोस नींव बनाई

पीएम मोदी ने कहा, ‘आपने हमारी  गुड गवर्नेंस को भी देखा है और गुड इंटेन्शन को भी। बीते पांच साल में हमने जो मेहनत की है। उसने आने वाले 25 सालों की एक ठोस नींव बनाई है। मैं युवाओं और पहली बार वोट देने वाले वोटर्स से अपील करना चाहता हूं कि आपका वोट इस सरकार में आपकी सक्रिय भागीदारी है।’ उन्होंने कहा, ‘उनकी सरकार ने सभी को आगे बढ़ाते हुए मणिपुर के लिए बदलाव का एक नया अध्याय लिखा है। युवा भी विकास की लहर का नेतृत्व करने के लिए आगे आ रहे हैं।’

असंभव को भी संभव कर दिखाया

इतना ही नहीं उन्होने बोला कि, ‘सरकार ने असंभव को संभव कर दिखाया है। मणिपुर के हर क्षेत्र को बंद और नाकेबंदी से राहत मिली है। जबकि कांग्रेस ने मणिपुर की विशेषता ही बंद और नाकेबंदी बना दी थी। विपक्ष पर तंज कसते हुए कहां कि नॉर्थ ईस्ट के लोगों की भावनाओं और तकलीफों को कभी समझ ही नहीं पाई। ये NDA की सरकार है जो नॉर्थ ईस्ट को अष्ठ लक्ष्मी मानते हुए, भारत के विकास का ग्रोथ इंजन मानते हुए, काम कर रही है। आप सभी की सेवा, आप सभी का विकास ही हमारी प्राथमिकता है।’ हमारी सरकार ने कोविड महामारी  के दौरान राज्य की अच्छी तरह से देखभाल की है। मणिपुर में सभी को मुफ्त टीका उपलब्ध कराया जा रहा है। अगर इस तरह की महामारी 2017 से पहले आ गई होती, तो क्या होता?’ उन्होंने कहा, ’10 में से 7 मणिपुरी अब मुफ्त राशन से लाभान्वित हो रहे हैं। मणिपुरी महिलाओं ने विदेशी ताकतों के खिलाफ ऐतिहासिक लड़ाई का नेतृत्व किया था। पूर्व सरकारों ने कभी भी मणिपुरी महिलाओं के जीवन को आसान बनाने का प्रयास नहीं किया। केवल एनडीए सरकार ने ही उनकी समस्याओं को समझा और उनके जीवन को बेहतर बनाने की दिशा में बेहतर काम किया।’

इस बात पर कोई दो राय नहीं होगी कि सही में पीएम मोदी ने ही नार्थ ईस्ट के राज्यों में विकास की गंगा बहाई है तभी तो आज वहां ट्रेन पहुंच चुकी है तो विश्वस्तर के एयरपोर्ट बनाये जा चुके है। और ये सब केवल कागजों में नही बल्कि हकीकत में लोगों को दिख रहे है।