अपने शहर से ताला हटवाना है, तो लॉकडाउन-2 को सफल बनायें, फिर छूट पायें

खुद पीएम मोदी ने बीते दिन लॉकडाउन-2 की घोषणा की थी, इसके साथ साथ पीएम ने एलान किया था कि अगर 20 अप्रैल तक सब कुछ बेहतर रहता है, तो लॉकडाउन-2 में कुछ छूट दी जा सकती है। हॉटस्पॉट्स में लॉकडाउन को लेकर किसी तरह की छूट नहीं होगी। छूट का आधार क्या होगा, उसके लिए शर्तें क्या होंगी, ये भी गाइडलाइंस में विस्तार से बताया गया है। आइए जानते हैं कि किन-किन चीजों पर पाबंदियां रहेंगी और 20 अप्रैल से किन-किन चीजों को छूट मिलेगी। 

इलेक्ट्रीशियन, मोटर मैकेनिक, प्लंबर , 50% IT कंपनियां  

लॉकडाउन 2 की गाइडलाइन में सबसे बड़ी राहत छोटे कारोबारियों को मिली है। इस बार सरकार ने एलान किया है कि अगर 20 अप्रैल तक जिन जिलों में कोरोना के मामले कम हो जायेगे तो वहां पर इलेक्ट्रीशियन, मोटर मैकेनिक और प्लंबर की दुकाने खुल सकती है। इसके साथ साथ वहां पर किराने की दुकान या आम जरूरत की सामान की दुकानो को भी खोला जा सकता है। साथ ही सरकार ने 50 फीसदी आईटी कंपनियों को खोलने का एलान किया है बस इन सब कंपनियो को समाजिक दूरी का पूरा पूरा ध्यान रखना पड़ेगा। 

किसानों को छूट 

इस वक्त मौसम गेहूँ की कटाई का है, इसको ध्यान में रखते हुए सरकार ने किसानों को लॉकडाउन 2 में बहुत सहूलियत देने का एलान किया है। जिसके चलते किसान अपनी फसल को खेत में काट सकते हैं, तो मंडियों में आकर उन्हे बेच भी सकते हैं, इसके साथ साथ किसानों से जुड़े समानों की दुकानो को इस बार खोलने का एलान किया है। जैसे कीटनाशक, कृषि से जुड़े औजार सिंचाई के लिये यूज होने वाले सामानो की दुकानें खोली जा सकेगी। वही मछली पालन दूध और दुग्ध उत्पादन के प्लांट भी नही बंद होंगे।  

बैंक शाखाएं डाकघर बीमा कंपनिया खुलेगी

वैसे लॉकडाउन-1 में भी ये सुविधा पूरी तरह से खुली हुई थी जिसे लॉकडाउन-2 में भी जारी रखा गया है। लेकिन इसके साथ ये उन इलाको में बंद रहेगी जहां कोरोना महामारी के केस लगातार बढ़ रहे होंगे। वहां पर ये बंद रहेंगे। इस बार ई कामर्स और निजी कुरियर सुविधा को भी खोलने की बात कही गई है। जिससे आम लोगो को लॉकडाउन से होने वाली दिक्कतों का कम सामना करना पड़े। 

हाईवे पर ढाबों को इजाजत

इस बार लॉकडाउन के दौरान हाईवे पर चलने वाले ढाबेखुले रहेंगे। इसके अलावा ट्रक मरम्मत की दुकानें भी खुली रहेंगी। लॉकडाउन के पहले चरण में इन्हें छूट नहीं थी इस वजह से ट्रकर्स को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। हालत यह हुई कि एनएचआईए को टोल प्लाजों पर ट्रक ड्राइवरों और उनके हेल्परों के लिए खाने-पीने का इंतजाम करना पड़ा। 

केंद्र के ये विभाग बिना पाबंदी के करेंगे काम

रक्षा, अर्द्धसैन्य बल, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, आपदा प्रबंधन, एनआईसी, एफसीआई, एनसीसी, नेहरू युवा केंद्र और सीमाशुल्क कार्यालय बिना किसी पाबंदी के काम करेंगे। अन्य मंत्रालय और विभाग उप सचिव और उससे ऊपर के पद के अधिकारियों के साथ 100 फीसदी हाजिरीके साथ काम करेंगे। इसमें कहा गया है, ‘बाकी के अधिकारी और कर्मचारी आवश्यकता के अनुसार 33 प्रतिशत तक की उपस्थिति के साथ काम करेंगे। इसी तरह राज्य के कर्मचारी भी अपना काम करेंगे। 

बहरहाल इसके साथ साथ कई ऐसी सुविधा है जो पहले भी चल रही थी वो भी चालू रहेगी। मसलन खनिज प्रदार्थ कोयला से जुड़े उत्पादन रेल या परिवाहन से माल ढ़ोलाई हो सब पहले की तरह ही चलते रहेंगे। लेकिन ये सब तब होगा जब आप अपने शहर में 20 अप्रैल तक कोरोना को समाजिक दूरी बनाकर और लॉकडाउन को सफल बनाते हैं तो इसलिये अगर आप चाहते हैं कि तालाबंदी जल्द खुले तो आप 20 तारीख तक इसका पालन खूब मन से करें। औऱ अपने शहर का नाम उस सूची में डालें जिसमें लॉकडाउन खत्म होने की बात हो।