हर बार की तरह इस बार भी राज्यों के चुनाव की पीएम मोदी ने संभाली कमान

यूपी में विधानसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान में मुश्किल से एक महीने से कम का समय रह गया है। राजनीतिक दलों की ओर पहले से ही चुनावी अभियान शुरू कर दिया गया है। सत्तारुढ़ भारतीय जनता पार्टी भी सक्रिय हो गई है। खुद पीएम मोदी उत्तर प्रदेश में ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं। पीएम मोदी पिछले डेढ़ महीने में पूर्वी उत्तर प्रदेश में आधा दर्जन जनसभाएं और दौरे कर चुके हैं तथा अगले कुछ दिनों में कई और दौरे होने वाले हैं। पीएम अब अगले 10 दिन में कम से कम 4 बार यूपी का दौरा करने जा रहे हैं।

10 दिनों में 4 बार यूपी का दौरा

अक्टूबर से लेकर पिछले 8 हफ्ते में ताबड़तोड़ 6 बार पूर्वांचल का दौरा करने वाले पीएम मोदी अब अगले 10 दिनों में फिर से 4 बार यूपी का दौरा करने वाले हैं। इस दौरन वो राज्य में कई बड़ी योजनाओं की सौगात भी देंगे। पीएम मोदी 21 दिसंबर को प्रयागराज में मौजूद रहेंगे. यहां उनके 2 लाख महिला कर्मचारियों के कार्यक्रम में जाने की उम्मीद है। यही नहीं प्रयागराज जाने के एक दिन बाद वह एक बार फिर 23 दिसंबर को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी जाएंगे जहां कई योजनाओं की सौगात देंगे। जिसके पांच दिन बाद वो 5 दिन बाद 28 दिसंबर को पीएम मोदी कानपुर में एक रैली करेंगे जहां वो कानपुर मेट्रो का लोकार्पण करेंगे।

 

हर चुनाव में आगे बढ़कर संभालते है कमान

ये पहला मौका नही जब पीएम मोदी ने किसी चुनाव की कमान संभाली हो इससे पहले भी वो कई राज्यों के चुनाव की खुद कमान संभालते आये है। वैसे भी पीएम मोदी अपनी पार्टी को हमेशा बोलते है कि एक कार्यकर्त्ता की तरह उनकी जहां पार्टी को जरूरत होगी वो वहां जरूर खड़े दिखेगे। वैसे भी पीएम मोदी और जनता के बीच का प्यार ही कुछ ऐसा है कि मोदी जी से मिलने सभी दौड़े आते हैं। इसकी सबसे बड़ी वजह मोदी सरकार द्वारा पिछले कुछ सालो में किये गये काम है जो आजादी के बाद सबसे बेहतर कामो में से है। ताजा उदाहरण यूपी को ही ले लीजिये जहां एक तरफ पीएम मोदी ने विरासत के तौर पर काशी विश्वनाथ के साथ साथ अयोध्या में भी मंदिर का कार्य शुरू करवाया है तो दूसरी तरफ कई दशक पुरानी गोरखपुर में खाद कारखाने को खुलवाया तो 40 साल से अटकी सरयू नदी परियोजना को भी शुरू करके दिखाया और ऐसी तमाम योजनाए है जिसे सरकार ने शुरू किया या शुरू होने वाली है जो ये बताता है कि ईमानदारी से किया गया काम कभी अटकता नही है।

यूपी चुनाव का सहसंग्राम अब शुरू होने वाला है लेकिन अभी अगर देखे तो मोदी जी के काम के आगे कही भी विपक्ष रुकता नही है और शायद इसी लिये वो अफवाह के सहारे और झूठे वादों के दम पर चुनाव लड़ना चाहता है लेकिन क्या वो कामयाब हो पायेगे ये तो वक्त ही बतायेगा।