जानें, रोज तिरुपति के 5 ट्रक बालों का क्या करते हैं नितिन गडकरी?

इंडिया टुडे के सफाईगीरी अवार्ड 2018 के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने ‘वेस्ट से वेल्थ’ बनाने पर जोर दिया. नितिन गडकरी ने अपने संबोधन में तिरुपति से आए बालों से एमीनो एसिड बनाकर मुनाफा कमाने की पूरी कहानी बताई.

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि वर्धा के महात्मा गांधी विज्ञान संस्थान ने एक शोध करके कटे हुए बालों से एमिनो एसिड बनाया है. उन्होंने कहा कि वे इसकी बोतल लेकर घर आए और इसका खेतों में प्रयोग किया, जिसका अच्छा परिणाम आया. गडकरी ने आगे कहा कि उन्होंने सोचा कि क्यों न वो भी इस तकनीक के माध्यम से किसानों की मदद करें.

इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अपने गांव में कटे हुए बालों से एमीनो एसिड बनाने की एक छोटी सी यूनिट डाली. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि अब वे रोजाना तिरुपति से 5 ट्रक बाल खरीदते हैं और इससे एमीनो एसिड पर आधारित माइक्रो न्यूट्रिएंट तैयार करते हैं.

 

उन्होंने कहा कि उनके प्लांट में कटे हुए बालों से तैयार एमीनो एसिड की एक बोतल जिसकी आम तौर पर कीमत 900 रुपये है उसे 300 रुपये में देते हैं. गडकरी ने आगे कहा कि उन्हें दुबई की सरकार से इसके लिए 180 कंटेनर का ऑर्डर भी मिला. जिसमें से 40 कंटेनर की आपूर्ति भी की जा चुकी है. उन्होंने कहा कि कटे हुए बालों से तैयान एमीनो एसिड से उन्हें 12 से 15 करोड़ का मुनाफा हो रहा है. जबकि इसे लगभग लागत के खर्च पर ही बेचा जा रहा है.

गौरतलब है कि इंडिया टुडे सफाईगीरी अवार्ड 2018 का वितरण भी केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने किया. इस मौके पर इंडिया टुडे के चेयरमैन और एडिटर इन चीफ अरुण पुरी ने कहा आज के दिन उन लोगों के लिए जश्न मनाने का है जो बदलाव लाने में सफल हुए हैं. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की सफाईगीरी अवार्ड 2018 पर बधाई से संस्था को मजबूती मिलती है.

 

Originally published at aaj tak