केजरीवाल ने लगातार तीसरी बार की सत्ता में वापसी, 16 फरवरी को लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

केजरीवाल की पार्टी आम आदमी पार्टी दिल्ली में लगातार तीसरी बार एक बार फिर से प्रचंड जीत के साथ सत्ता में आ गई है। विधानसभा चुनाव में उसने कुल 70 सीटों में से 62 सीटें जीती हैं। पार्टी ने दूसरी बार दो तिहाई सीटों से काफी अधिक पर कब्जा किया है। 2015 में उसे 67 सीटें मिली थी।

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 में जीत के बाद आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल 16 फरवरी को दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक आम आदमी पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल 16 फरवरी को दिल्ली के रामलीला मैदान में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। इस तरह वह तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बनेंगे।

2020 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने आठ सीटें जीती हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में उसने केवल तीन सीटें थीं। भाजपा के वोट प्रतिशत में पिछले चुनाव के मुकाबले छह प्रतिशत की वृद्धि हुई है। भाजपा को 38 दशमलव पांच एक प्रतिशत वोट मिले हैं। आम आदमी पार्टी को 53 दशमलव तीन सात प्रतिशत और कांग्रेस को केवल 4 दशमलव दो छह प्रतिशत वोट मिले। अन्य दलों को एक प्रतिशत से भी कम वोट पड़े हैं। शून्य4 दशमलव चार छह प्रतिशत मतदाताओं ने नोटा का भी बटन दबाया है ।

आम आदमी पार्टी के प्रमुख नेताओं में नई दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, पटपड़गंज से उपमुख्य्मंत्री मनीष सिसोदिया, बाबरपुर से गोपाल राय, शकूर बस्तील से सत्येन्द्र जैन, राजेन्द्र नगर से राघव चड्ढ़ा, मंगोलपुरी से राखी बिडला और आम्बेडकर नगर से अजय दत्त ने चुनाव जीता है। पार्टी की नौ महिला उम्मीदवारों में से आठ विजयी रही हैं।

भारतीय जनता पार्टी के मौजूदा विधायकों में रोहिणी से विजेन्द्र् गुप्ता और विश्वास नगर से ओमप्रकाश शर्मा अपनी सीट बचाने में सफल रहे हैं।

कांग्रेस लगातार दूसरी बार अपना खाता खोलने में नाकाम रही। उसके केवल तीन उम्मीदवार ही अपनी जमानत बचा सके। अधिकांश कांग्रेस उम्मीदवारों को उनके निर्वाचन क्षेत्रों में पड़े कुल मतों का पांच प्रतिशत से भी कम मिला। कांग्रेस ने 66 उम्मीदवार खड़े किए थे और तीन सीटें अपनी सहयोगी राष्ट्रीय जनता दल को दी थी।

कैबिनेट को लेकर चर्चा तेज

आप की प्रचंड जीत के साथ ही नई कैबिनेट को लेकर चर्चा शुरू हो गई है। नई कैबिनेट में कई नए नाम आने को लेकर चर्चाएं तेज हो गई हैं। तीसरी बार विजय मिलने के बाद एक बार फिर आप के राष्ट्रीय विस्तार की चर्चा भी तेज हो गई है। ऐसे में इस बार कैबिनेट का संतुलन महत्वपूर्ण माना जा रहा हैं, जिसे देखते हुए कयास लगाए जा रहे हैं कि कैबिनेट में नए चेहरों को जगह मिल सकती हैं।

केजरीवाल आज चुने जा सकते हैं विधायक दल के नेता

आप को मिली प्रचंड जीत के बाद सरकार के दोबारा औपचारिक गठन की तैयारी शुरू कर दी गई है। बुधवार दोपहर में आप के विधायक दल की बैठक होगी, जिसमें अरविंद केजरीवाल विधायक दल के नेता चुने जा सकते हैं। सूत्रों का कहना है कि विधायक दल का नेता चुनने के बाद उपराज्यपाल को सरकार बनाने का प्रस्ताव दिया जाएगा।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •