कश्मीर में बदलाव की बयार – विकास के लिए टूट रही धर्म की दीवार

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कुछ दिनों पूर्व बारामूला राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण में रूकावट बन रहे गुरुद्वारा दमदमा साहिब को तोड़ने की अनुमति सिख समुदाय ने दी थी| इस भाईचारे को बरक़रार रखते हुए अब मुस्लिम समुदाय ने श्रीनगर में झेलम पर बन रहे पुल के निर्माण के लिए 40 साल पुरानी मस्जिद को गिराने पर सहमति दी है|

झेलम पर पुल के लिए 40 साल पुरानी मस्जिद गिराने को मुस्लिम समुदाय सहमत

जम्मू एवं कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में झेलम नदी पर लंबे समय से अटके पुल का निर्माण कार्य पूरा करने के लिए मुस्लिम समुदाय ने एक मिसाल पेश की है| पुल के निर्माण कार्य में रूकावट को दूर करने के लिए मुस्लिम समुदाय के लोगों ने 40 साल पुरानी मस्जिद को गिराने पर सहमति दे दी|

कमरवारी के रामपुरा क्षेत्र में श्रीनगर जिला विकास आयुक्त शाहिद इकबाल चौधरी और मस्जिद अबू तुराब की प्रबंध समिति के बीच एक समझौते पर हस्ताक्षर के 24 घंटे बाद शनिवार को मस्जिद गिराने का काम शुरू हुआ है|

बारामुला राजमार्ग के लिए 72 साल पुराना गुरुद्वारा तोड़ने की सिख समुदाय ने दी थी अनुमति

उल्लेखनीय है कि इस से पहले श्रीनगर से बारामूला जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग के लिए सिख समुदाए ने 72 साल पुराने गुरुद्वारे (गुरुद्वारा दमदमा साहिब ) को तोड़ने की अनुमति दी थी। इस वजह से राजमार्ग का निर्माण करीब एक दशक से रुका हुआ था। इस गुरुद्वारे का निर्माण साल 1947 में हुआ था। गुरुद्वारा दमदमा साहिब ने मुख्य रूप से पाकिस्तान से आए प्रवासी परिवारों की सेवा की थी।

श्रीनगर जिला विकास आयुक्त शाहिद इकबाल चौधरी ने इस मामले में व्यक्तिगत तौर पर हस्तक्षेप किया था और वैकल्पिक जमीन तथा राजमार्ग निर्माण में सहयोग के लिए प्रशासनिक प्रस्ताव स्वीकार करने पर जिला विकास आयुक्त ने संगत को आभार व्यक्त किया था|

कश्मीर का पुनर्गठन साल 2019 में मोदी 2.0 की सफलताओं में से एक है| नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने देश की जनता से अपने चुनावी घोषणापत्र में ही कश्मीर की समस्या के समाधान का वादा किया था|

प्रधानमंत्री मोदी और देश के भरोसे को बरक़रार रखते हुए, कश्मीर की जनता ने विकास के रास्ते पर अपने प्रदेश को अग्रसर कर दिया है| धर्म और संप्रदाय की दीवार को तोड़ते हुए कश्मीर अब विकास की ओर बढ़ चूका है| सभी धर्म के लोग एक होकर कश्मीर के विकास में योगदान देने को तत्पर हैं|


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •