सिर्फ 990 रूपये प्रतिदिन में करें, प्रधानमंत्री मोदी की तरह रूद्र गुफा में साधना

जिस देश के हर छोटे-बड़े नेता अपने इलाज के लिए भी विदेशों का रुख करते हैं| जिनके मन में भगवान और देश की पुरातन संस्कृति का ध्यान सिर्फ चुनाव के समय आता है, वैसे देश का प्रधानमंत्री अगर ध्यान और साधना के लिए एक पहाड़ की गुफा की ओर रुख करेगा, तो उस गुफा के बारे में कौतुहल तो होना ही है|

Rudra Cave

आखिर क्या है रूद्र गुफा जहाँ प्रधानमंत्री मोदी ने 17 घंटे तक ध्यान किया? ये कौन सी जगह है, क्यों इसकी इतनी महत्ता है और किस प्रकार से आप भी यहाँ ध्यान कर सकते हैं? आइये जानते हैं इस गुफा के बारे में सारी बातें:

PM_Modi_In_Kedarnath

रूद्र गुफा केदारनाथ में मंदिर परिसर से करीब 1.5 किलोमीटर की दुरी पर मन्दाकिनी नदी के ठीक ऊपर करीब 12,000 फीट की ऊंचाई पर स्थित है|

रूद्र गुफा एक मानवनिर्मित गुफा है, जिसका निर्माण गढ़वाल मंडल विकास निगम ने करवाया है| इस गुफा को “रूद्र मैडिटेशन केव (रूद्र ध्यान गुफा)” कहा जाता है| इस मानव निर्मित गुफा के बनाने में संपूर्ण खर्च करीब 8 लाख के आस-पास आया था|

अधिकारीयों की माने तो पांच मीटर लंबी और तीन मीटर चौड़ी इस रुद्र गुफा का निर्माण प्रधानमंत्री के निर्देश के अनुसार ही हुआ है| उल्लेखनीय है की केदारनाथ में आई भीषण बाढ़ के बाद से इस स्थान की पुरानी स्थिति को वापस लाने में और जनजीवन सामान्य करने में प्रधान मंत्री ने निजी तौर पर रूचि दिखाई थी|

modi-cave-outside

इस गुफा में ध्यान और साधना करने के लिए GMVN की वेबसाइट द्वारा बुकिंग कराइ जा सकती है| प्रतिदिन का शुल्क 990 रुपया है, और कम से कम 3 दिन के लिए बुकिंग करवानी अनिवार्य है| चूँकि ये गुफा 12000 फीट की ऊंचाई पर स्थित है और इस ऊंचाई पर सर्द मौसम में रहने के लिए स्वस्थ होना जरुरी है| इसलिए पहले निचे गुप्तकाशी और फिर ऊपर केदारनाथ में पूरी तरह से मेडिकल जाँच के बाद ही इस गुफा में ध्यान की अनुमति मिलती है|

यह गुफा आधुनिक सुख सुविधाओं से सुसज्जित है, इसमें एक भक्त की मुलभुत आवश्यकता की हर सुविधा जैसे बिजली, पानी, बाथरूम, और फ़ोन उपलब्ध है| एक अटेंडेंट भी आवश्यकतानुसार उपस्थित होता है और आपके खान पान की भी व्यवस्था की जा सकती है|

इस गुफा में ही अपना चुनाव प्रचार ख़त्म करने के बाद प्रधान मोदी ने 17 घंटे तक साधना की थी| पिछले सालों तक इस गुफा में पर्यटकों की रूचि तथाकथित तौर पर कम थी, लेकिन अब मोदी जी के इसी गुफा में ध्यान करने के बाद से इस गुफा में लोगों की रूचि बहुत बढ़ गयी है, और आश्चर्य नहीं की अगर पहले से एडवांस बुकिंग करवाने वाले लोगों का तांता लग जाए|

आप भी अगर रूद्र गुफा में ध्यान और साधना करके एकाग्रचित होना चाहते हों तो देर न करें और आज ही सारी तैयारी करें|